बिभव, अरविंद कितने करीब ? इन 5 बातों में है राज


बिभव कुमार

    बिभव कुमार, स्वाती मालीवाल केस से चर्चा में है और उनपर बोलने से दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल बच रहे हैं.

सवाल क्या है?

    आखिर किसी महिला के साथ आए ऐसे केस में केजरीवाल शांत क्यों है, बिभव से उनकी ऐसी क्या करीबी है.

कैसे करीब आए

    आइये जानते हैं केजरीवाल के और बिभव कुमार के संबंध कितने गहरे हैं और ये कब साथ आए.

2005 से शुरुआत

    पत्रकारिता की पढ़ाई करने के बाद भी बिभव 2005 में केजरीवाल के NGO कबीर से जुड़े.

RTI की जिम्मेदारी

    केजरीवाल ने सबसे पहले बिभव के RTI पर काम करने कहा और वो धीरे-धीरे एक्सपर्ट बन गए. यही से वो केजरीवाल के करीब आए.

2011 का आंदोलन

    जब अन्ना हजारे से संगठन का संपर्क बढ़ा तो उसनें बिभव सक्रिय रहे और 2011 के आंदोलन में केजरीवाल को राय दी.

CM का काम संभाला

    सरकार बनने के बाद बिभव केजरीवाल से जुड़े काम देखने लगे. राज्यपाल द्वारा पद भंग होने पर भी वो जुटे रहे.

6 में से एक नाम

    जब केजरीवाल जेल गए तो उन्होंने मिलने वालों के जो 6 नाम दिए उसमें बिभव का नाम शामिल था.

करीबी जानें

    2005 से शुरू हुआ रिस्ता 2024 तक पहुंचा. अगर केजरीवाल से मिलने वालों में वो एक थे तो समझें कितने करीब हैं.

More Stories