ऑपरेशन जिंदगीः सुरंग के अंदर से बाहर तक... देखें 'महा-रेस्क्यू अभियान'


वीके सिंह भी रहे मौजूद

    रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान केंद्रीय मंत्री वीके सिंह भी सिल्कयारा टनल पर मौजूद रहे. मजदूरों को फूल माला पहनाईं.

अलर्ट मोड पर एंबुलेंस

    टनल से बाहर आते ही सभी मजदूरों को एक-एक करके अस्पताल ले जाती एंबुलेंस.

बौख नाग देवता की पूजा

    टनल के बाहर बौख नाग देवता की स्थापना की गई थी. स्थानीय लोगों का मानना है कि देवता की स्थापना के साथ ही मजदूरों के बाहर आने का रास्ता साफ हो गया.

सीएम लगातार एक्टिव

    सिल्कयारा टनल में फंसे मजदूरों को निकालने के लिए चले रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान सीएम धामी हमेशा अलर्ट मोड पर रहे. पल-पल की खबर ली.

41 मजदूर, 41 एंबुलेंस

    रेस्क्यू ऑपरेशन से पहले टनल के बाहर 41 मजदूरों के लिए 41 एंबुलेंस तैनात की गई थीं.

एंबुलेंस में हाल-चाल

    जैसे ही मजदूरों को एंबुलेंस में शिफ्ट किया गया, वैसे ही सीएम धामी ने मजदूरों का हालचाल लिया. उनका हौसला बढ़ाया.

रैट होल माइनर्स

    टनल में फंसे मजदूरों को बाहर निकालने के लिए रैट होल माइनर्स को बुलाया गया था. 24 एक्सपर्ट की टीम ने रेस्क्यू की दिशा ही बदल दी.

View More Web Stories