भारत के इन 9 मंदिरों में स्वयं विराजते हैं प्रभु श्रीराम, रामनवमी पर कर लें दर्शन


त्रिप्रयार श्रीराम मंदिर

    केरल के त्रिशूर जिले में स्थित इस मंदिर में रखी मूर्ति का पूजन स्वयं श्रीकृष्ण ने किया था. इसके बाद एक राजा वक्कयिल कैमल ने मूर्ति को इस मंदिर में स्थापित कराया था.

Credit: google

रघुनाथ मंदिर

    जम्मू के रघुनाथ मंदिर परिसर में 7 अन्य देवी-देवताओं के मंदिर भी है. वैसे यह मंदिर भी प्रभु श्रीराम को समर्पित है.

Credit: google

अयोध्या

    इस जगह को प्रभु श्रीराम की जन्मस्थली माना जाता है. यहां पर प्रभु श्रीराम के अनुपम स्वरूप का आप दर्शन कर सकते हैं.

Credit: google

राम राजा मंदिर

    ओरछा में स्थित यह भारत का एक मात्र मंदिर है, जहां प्रभु श्रीराम भगवान नहीं राजा के रूप में विराजमान हैं. यहां हर दिन उनको गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाता है.

Credit: google

सीता रामचंद्रस्वामी मंदिर

    तेलंगाना स्थित सीता रामचंद्रस्वामी मंदिर सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है. यह तेलंगाना के भद्राद्री कोठागुडेम जिले के भद्राचलम में स्थित है. यहां पर भगवान श्रीराम ने लंका से माता सीता को वापस लाने के लिए गोदावरी नदी पार की थी.

Credit: google

रामास्वामी मंदिर

    तमिलनाडु के दक्षिणी राज्य में स्थित यह मंदिर काफी आकर्षक है. यहां भगवान श्रीराम, भरत, शत्रुघ्न, सीता और लक्ष्मण के साथ विराजमान हैं.

Credit: google

कालाराम मंदिर

    यह मंदिर नासिक में स्थित है. यहां पर भगवान राम की 2 फीट ऊंची काली मूर्ति है. इस जगह आपको दर्शन करने अवश्य आना चाहिए.

Credit: google

श्रीतिरुनारायण स्वामी मंदिर

    कर्नाटक के मेलकोट स्थित यह मंदिर यदुगिरि पहाड़ी पर स्थित है. इस पहाड़ी दो मंदिर स्थित हैं.

Credit: google

राम मंदिर चित्रकूट

    चित्रकूट में स्थित भगवान श्रीराम मंदिर में प्रभु माता सीता के साथ विराजमान हैं. चित्रकूट में प्रभु श्रीराम माता अनुसूया के आश्रम में रहे थे.

Credit: google
More Stories