8 तरह की भारतीय साड़ियां, जो हैं महिलाओं की पहली पसंद


बनारसी साड़ी (उत्तर प्रदेश)

    बनारसी साड़ी उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर से आती हैं. अपने सोने और जरी के काम के लिए देश-विदेश में जानी जाती है.

Credit: सोशल मीडिया

चंदेरी साड़ी (मध्य प्रदेश)

    मध्य प्रदेश की चंदेरी साड़ियां देशभर में मशहूर हैं. ये साड़ियां शुद्ध रेशम से बनाई जाती हैं. इनमें सोने और चांदी का ब्रोकेड पैटर्न होता है.

Credit: सोशल मीडिया

लेहरिया साड़ी (राजस्थान)

    राजस्थानी लहरिया साड़ी टाई एंड डाई विधि का इस्तेमाल करके बनाई जाती है. साड़ी को इस तरह से बांधा जाता है कि एक लहरदार पैटर्न तैयार होता है.

Credit: सोशल मीडिया

बंधनी साड़ी (गुजरात)

    बंधनी साड़ी हर महिला की सबसे पसंदीदा साड़ी होती है. ये साड़ियां टाई-डाई तकनीक से तैयार की जाती हैं.

Credit: सोशल मीडिया

संबलपुरी साड़ी (ओडिशा)

    ओडिशा का संबलपुर जिला, वो जगह है जहां संबलपुरी इकत साड़ियां बनाई जाती हैं. कढ़ाईदार डिजाइनों वाली रेशम और सूती साड़ियां संबलपुरी शैली में तैयार की जाती हैं.

Credit: सोशल मीडिया

चिकनकारी साड़ी (लखनऊ)

    उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ कपड़ों पर चिकनकारी काम के लिए भी जाती है. यहां की चिकनकारी साड़ियां पूरी दुनिया में मशहूर हैं.

Credit: सोशल मीडिया

कांजीवरम साड़ी (तमिलनाडु)

    यह साड़ी अपने अनोखे डिजाइन के भारत की सबसे खूबसूरत क्षेत्रीय साड़ियों में से एक है. कांजीवरम साड़ी की बुनाई के लिए शुद्ध शहतूत रेशम का इस्तेमाल होता है.

Credit: सोशल मीडिया

पोचमपल्ली साड़ी (तेलंगाना)

    तेलंगाना का भूदान पोचमपल्ली शहर पोचमपल्ली साड़ियों के लिए मशहूर है. ये साड़ियां रेशम और सूती कपड़ों से बनाई जाती हैं, जिनमें काफी जटिल डिजाइनें बनाई जाती हैं.

Credit: सोशल मीडिया

View More Web Stories