2025 में गायब हो जाएंगी शनि ग्रह की रिंग्स?


सूरज का चक्कर

    प्रत्येक ग्रह अपने निर्धारित समय में सूर्य का चक्कर लगाते हैं. पृथ्वी की बात करें तो यह 365 दिनों में सूरज के चक्कर लगाती हैं.

शनि की परिक्रमा

    वहीं, शनि ग्रह की बात करें तो यह 29.4 साल में सूरज का एक चक्कर लगाता है. शनि के चारो ओर रिंग्स दिखाई देती है.  शनि को अंग्रेजी में Saturn  कहा जाता है.

शनि की रिंग्स

    इन रिंग्स को टेलिस्कोप की मदद से देखा जा सकता है. अभी पृथ्वी में रहकर इसे आप देख सकते हैं.

गायब हो जाएंगी रिंग्स

    हालांकि, 2025 के बाद शनि की रिंग्स गायब हो जाएंगी. नासा के वैज्ञानिकों ने भी इस पर अपनी मुहर लगा दी है.

झुकाव

    ऐसे में सवाल ये उठता है कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है? दरअसल, पृथ्वी 23.5 डिग्री झुकी हुई है और शनि अपने रोटेशन एक्सिस से 26.7 डिग्री झुकी है.

लाइट और रिफ्लेक्शन

    सूर्य के चक्कर लगाने के चलते पृथ्वी से शनि की रिंग्स की पोजीशन बदलती रहती हैं. यहां तक ये रिंग्स दिखनी बंद हो जाती है. ये लाइट और रिफ्लेक्शन की वजह से होता है.

नासा का दावा

    मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 2032 में शनि की रिंग्स फिर से दिखने लगेंगी. इस पर 2018 में नासा ने एक रिसर्च में कहा था कि 300 बिलियन साल बाद या उससे पहले शनि अपनी रिंग्स पूर्ण रूप से खो देगा.

बड़ा रहस्य

    हमारे अंतरिक्ष में इस तरह के अनेकों रहस्य छिपे है. आए दिन कुछ न कुछ बदलाव होते ही रहते हैं. ऐसे में शनि की रिंग्स का न दिखना कोई बड़ा रहस्य नहीं है.

More Stories