कैसा होता था मुगल बादशाहों का हरम,जानें क्या-क्या होता था वहां?


हरम

    हरम वो जगह थी जहां मुगल बादशाहों की तमाम बेगमें रहा करती थी.

Credit: Social media

सुल्तान

    इस महल में सुल्तान के अलावा किसी भी और पुरुष को आने की इजाजत नहीं थी.

Credit: Social media

अकबर

    महिलाओं के लिए हरम बनाने की शुरूआत अकबर ने की थी.अकबर के हरम में 5 हजार से ज्यादा रानियां थी.

Credit: Social media

बादशाह बाबर

    हरम की प्रथा को बादशाह बाबर के साथ तमाम मुगल बादशाहों ने आगे बढ़ाया.

Credit: Social media

पुरुष

    हरम में सुल्तान के अलावा किसी भी और पुरुष को आने की इजाजत नहीं थी.

Credit: Social media

करीबी

    हरम में उस बेगम की सबसे ज्यादा चलती थी जो मुगल बादशाह के सबसे करीब हुआ करती थी.

Credit: Social media

हरम की सूरक्षा

    हरम में मौजूद महिलाओं की सुरक्षा के लिए किन्नरों को लगाया जाता था.

Credit: Social media

महिलाओं की पवित्रता

    ऐसा इसलिए किया जाता था ताकि हरम में मौजूद महिलाओं की पवित्रता पर कोई सवाल ना उठे.

Credit: Social media

जीवन आलीशान

    हरम में औरतों का जीवन आलीशान था. शाही कपड़े, आराम के सारे सामान, सेवा में लगी दासियां, संगीत-कहानी के जरिये वो मनोरंजन करती थी.

Credit: Social media
More Stories