कैंसर से बचाए, वजन घटाए... अंजीर खाने के 10 फायदे


वजन घटाने में मददगार

    अंजीर में फाइबर की मात्रा काफी ज्यादा होती है. सुबह सबसे पहले इसे खाने से आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है.आप ज्यादा कैलोरी नहीं लेते को वजन घटाने में मदद मिलती है.

Credit: सोशल मीडिया

पेट रहेगा स्वस्थ

    अंजीर में घुलनशील और अघुलनशील दोनों प्रकार के फाइबर होते हैं, जो पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं. पेट को कब्ज से बचाते हैं.

Credit: सोशल मीडिया

ब्लड शुगर को कंट्रोल करे

    कई डॉक्टर सलाह देते हैं कि अंजीर में क्लोरोजेनिक एसिड, पोटेशियम और ओमेगा 3 व 6 फैटी एसिड होते हैं, जो शरीर में ब्लड शुगर के लेबल को कंट्रोल करके रखता है.

Credit: सोशल मीडिया

दिल का रखे ख्याल

    अंजीर से ब्लड में ट्राइग्लिसराइड्स या वसा के कण कम होते हैं. इन्हीं कणों के रक्त धमनियों से चिपकने के कारण दिल का दौरा पड़ता है. रोजाना भीगे हुए अंजीर का सेवन हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है.

Credit: सोशल मीडिया

हड्डियां होंगी मजबूत

    कई महिलाओं में कैल्शियम की कमी होती है, जिसके कारण अंजीर को भिगोकर खाना उनके लिए जरूरी है. विशेषज्ञ के अनुसार अंजीर पोटेशियम और कैल्शियम से भरपूर होता है. अंजीर का सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती हैं.

Credit: सोशल मीडिया

पीरिएड्स में राहत

    अंजीर में मैंगनीज, जिंक, मैग्नीशियम और आयरन समेत खनिज पदार्थ काफी मात्रा में होते हैं. ये प्रजनन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं. यह हार्मोन असामान्यताओं और पीरिएड्स के बाद के अन्य विकारों से बचाने में मदद करता है.

Credit: सोशल मीडिया

गर्भवतियों के लिए खास

    अंजीर में विटामिन बी6 और ओमेगा-3 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में होते हैं. ये मॉर्निंग सिकनेस में मदद करते हैं और भ्रूण के समुचित विकास के लिए जरूरी हैं.

Credit: सोशल मीडिया

कैंसर से बचाए

    डॉक्टरों का मानना है कि रोजाना भिगोए हुए अंजीर खाने से स्तन कैंसर और कोलन कैंसर जैसी बीमारियों का खतरा काफी कम हो जाता है.

Credit: सोशल मीडिया

स्किन प्रॉब्लम्स कम करे

    अंजीर में विटामिन सी होता है, जो स्वस्थ, चमकती त्वचा के लिए जरूरी होता है. चेहरे से दाग-धब्बे, मुंहासे और सनबर्न को हटाने में भी मदद करता है. त्वचा स्वस्थ और समान रूप से निखरी होती है.

Credit: सोशल मीडिया

गुर्दे की पथरी ठीक करें

    गुर्दे की पथरी के अधिकांश इलाज में पारंपरिक उपचार और औषधीय जड़ी-बूटियों का उपयोग किया जाता है. दूसरी ओर अंजीर ऐसी पथरी के लिए एक लोकप्रिय और कुशल इलाज है.

Credit: सोशल मीडिया