पुतिन के टॉप-5 जानी दुश्मन जो नहीं बचे जिंदा


पांचवीं बार राष्ट्रपति

    व्लादिमीर पुतिन रूस के पांचवीं बार राष्ट्रपति बने हैं. चुनाव में उन्हें रिकॉर्ड 88 फीसदी वोट हासिल हुए हैं.

Credit: Social Media

पुतिन के विरोधी

    पुतिन के सामने कोई भी ऐसा राजनेता नहीं था जो उन्हें टक्कर दे पाता क्योंकि पुतिन को अपने विरोधियों को ठिकाने लगाने के लिए जाना जाता है.

Credit: Social Media

टॉप विरोधी नेता

    उनके जानी दुश्मन माने जाने वाले कई विपक्षी नेताओं की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. आज आप ऐसे ही पुतिन के पांच विरोधियों के बारे में आप जानेंगे.

Credit: Social Media

एलेक्सी नवलनी

    47 साल के एलेक्सी नवलनी की पिछले महीने जेल में अचानक मौत हो गई थी. उन्हें पुतिन का कट्टर आलोचक माना जाता था. साल 2020 में उन्होंने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा था जब वह नर्व एजेंट ग्रुप नोविचोक के जहर से बच गए थे.

Credit: Social Media

मिखाइल लेसिन

    2015 में 57 साल के इस रूसी नेता की संदिग्ध परिस्थितियों में वॉशिंगडन डीसी के एक होटल कमरे में लाश मिली थी. वह इससे पहले रूसी सरकार में प्रेस मिनिस्टर का पद संभाल चुके थे.

Credit: Social Media

बोरिस नेम्तसोव

    फरवरी 2015 में बोरिस नेमत्सोव की क्रेमलिन के पास एक पुल पर गोली मारकर हत्या कर दी गई. नेमत्सोव लोकतंत्र, मानवाधिकार और पारदर्शिता की वकालत करने वाले पुतिन सरकार के मुखर आलोचक थे.

Credit: Social Media

बोरिस बेरेजोव्स्की

    बोरिस रूस के एक धनी व्यापारी, कुलीन वर्ग और पुतिन के पूर्व सहयोगी थे. हालांकि एक समय बाद वे पुतिन के कटु आलोचक बन गए और लंदन चले गए और कुछ समय बाद बर्कशायर के घर में मृत पाए गए.

Credit: Social Media

सर्गेई मैग्निट्स्की

    सर्गेई मैग्निट्स्की एक वकील और लेखा परीक्षक थे जिन्होंने रूसी अधिकारियों से जुड़ी एक बड़ी कर धोखाधड़ी योजना का पर्दाफाश किया था. हिरासत में लिए जाने के बाद उनकी मौत हो गई थी. सर्गेई की मौत को ध्यान में रखते हुए अमेरिका में एक मैग्निटस्की एक्ट पारित हुआ जो रूसी अधिकारियों पर मानवाधिकारों के हनन और भ्रष्टाचार पर रोक लगाता है.

Credit: Social Media
More Stories