108 फीट ऊंचा शिखर, 10 गर्भगृह, जानें कल्कि धाम मंदिर की खासियत?


शिलान्यास

    पीएम मोदी संभल में श्री कल्कि धाम मंदिर का शिलान्यास करेंगे. उसके बाद एक जनसभा को संबोधित करेंगे.

Credit: Social media

प्रभु विष्णु का 10वां अवतार

    भगवान कल्कि को प्रभु विष्णु का 10वां अवतार माना जाता है. श्री कल्कि धाम का निर्माण श्री कल्कि धाम निर्माण ट्रस्ट द्वारा किया जा रहा है जिसके अध्यक्ष आचार्य प्रमोद कृष्णम हैं.

Credit: Social media

10 गर्भगृह

    इस मंदिर में भगवान विष्णु के 10 अवतारों के लिए 10 अलग-अलग गर्भगृह होंगे. श्री कल्कि धाम मंदिर परिसर पांच एकड़ में बनकर तैयार होगा, जिसमें 5 साल का समय लगेगा.

Credit: Social media

गुलाबी पत्थर

    मंदिर का निर्माण भी राजस्थान के भरतपुर जिले में स्थित बंशी पहाड़पुर के गुलाबी पत्थरों से होगा.

Credit: Social media

ऊंचाई 108 फीट

    मंदिर का निर्माण 11 फीट ऊंचे चबूतरे पर होगा, इसके शिखर की ऊंचाई 108 फीट होगा.

Credit: Social media

68 तीर्थों

    मंदिर में 68 तीर्थों की स्थापना होगी, जबकि कहीं भी स्टील या लोहे का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा.

Credit: Social media

नए विग्रह की स्थापना

    कल्कि धाम में भगवान कल्कि के नए विग्रह की स्थापना होगी, जबकि पुराना कल्कि पीठ बैसे ही बना रहेगा.

Credit: Social media

नरसंहार के लिए अवतार

    जब कलयुग में पाप अपने चरम पर होगा, तब भगवान विष्णु के 10वें अवतार कल्कि दुष्टों के नरसंहार के लिए अवतरित होंगे.

Credit: Social media

कल्कि अवतार का चित्रण

    अग्नि पुराण के 16वें अध्याय में कल्कि अवतार का चित्रण तीर-कमान धारण किए हुए एक घुड़सवार के रूप में किया गया है.

Credit: Social media
More Stories