menu-icon
India Daily
share--v1

'मौत' को मात! 4 दिनों तक जिंदा दफन रहा बुजुर्ग, पुलिस पहुंची तो धरती फाड़ कर निकला

Man Buried Alive: हत्या की सूचना के बाद शव की तलाश में निकली पुलिस उस वक्त हैरान रह गई, जब घटनास्थल के पास धरती के नीचे से मदद के लिए इंसान की आवाज सुनी. जहां से आवाज आ रही थी, वहां पुलिसकर्मियों ने खुदाई शुरू की, तो एक बुजुर्ग को निकाला गया. उसने बताया कि 4 दिन पहले उसे यहां जिंदा दफना दिया गया था.

auth-image
India Daily Live
Man buried alive for 4 Days rescued by police

Man Buried Alive: जमीन के अंदर 4 दिनों से जिंदा दफन 62 साल के बुजुर्ग को पुलिस ने उस वक्त बचाया, जब जमीन के अंदर से बचाने के लिए मदद मांगने की आवाज आई. रिपोर्ट्स के मुताबिक, शख्स के बारे में पुलिस को उस वक्त पता चला, जब टीम सोमवार को हुई 72 साल के शख्स की हत्या की जांच पड़ताल के लिए पुलिस घटनास्थल पर पहुंची थी. 

मोल्दोवा पुलिस के मुताबिक, 74 साल के बुजुर्ग की उसके रिश्तेदारों ने हत्या कर दी थी. मामले की जानकारी के बाद पुलिस जांच पड़ताल के लिए घटनास्थल पर पहुंची थी. इस दौरान जांच पड़ताल करते हुए पुलिस की टीम खेतों की ओर पहुंची. यहां जमीन के अंदर से किसी के मदद मांगने की आवाज किसी पुलिसकर्मी ने सुनी.

पुलिसकर्मी ने अपने साथियों को इसकी जानकारी दी. फिर पुलिसकर्मियों ने जमीन को खोदा तो अंदर बने एक कब्र से 62 साल के बुजुर्ग को बाहर निकाला गया. बुजुर्ग ने बताया कि किसी ने उसे 4 दिन पहले जिंदा दफन कर दिया था.

18 साल के लड़के ने जिंदा किया था दफन

जिंदा दफन किए गए बुजुर्ग ने पुलिस को बताया कि 18 साल के एक लड़के ने उनके साथ ऐसा किया था. बुधवार को जारी पुलिस फुटेज में जिंदा दफन बुजुर्ग को अस्थायी कब्र से बाहर खींचते हुए दिखाया गया है. बुजुर्ग को जब बाहर निकाला गया तो वो बिलकुल ठीक था, लेकिन उसकी गर्दन पर घाव के निशान थे.

डेली मेल के मुताबिक, सोमवार को उत्तर पश्चिम मोल्दोवा के उस्तिया स्थित एक घर में फोरेंसिक विशेषज्ञों को बुलाया गया था. तकनीकी, आपराधिक और फोरेंसिक टीम ने तय किया कि 74 साल के बुजुर्ग की पिटाई की गई थी, जिसमें वो गंभीर रूप से घायल हो गया था. थोड़ी देर बाद ही उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई.

पुलिस की टीम ने  मृतक के 18 साल के पहचान वाले लड़के को गिरफ्तार किया. हालांकि, पुलिस ने पीड़ित और नाबालिग आरोपी का नाम नहीं लिया. पुलिस ने बताया कि जब आरोपी को दबोचा गया, तो वो अपने घर में नशे की हालत में पाया गया. पुलिस ने जब उससे पूछताछ शुरू की तो उसने अपने बयान को बार-बार बदला.

घर की तलाशी ली, तो कब्र में जिंदा मिला बुजुर्ग

पुलिस के मुताबिक, जैसे ही सबूत के लिए आरोपी के घर की तलाशी ली जाने लगी, तो उसके घर के पास जमीन के नीचे से बुजुर्ग की आवाज सुनाई दी. पुलिस की टीम जहां से आवाज आ रही थी, वहां पहुंची और खुदाई शुरू कर दी. बुजुर्ग ने बताया कि वे और आरोपी नाबालिग एक साथ बैठकर शराब पी रहे थे. इसी बीच किसी बात को लेकर दोनों के बीच बहस हो गई. 

बहस के दौरान नाबालिग ने उन पर चाकू से हमला कर दिया और अस्थायी कब्र में कैद कर दिया. पुलिस का मानना है कि बुजुर्ग को दफनाए जाने के बाद आरोपी नाबालिग ने अगले दिन या फिर रविवार या सोमवार को 74 साल के बुजुर्ग की हत्या कर दी.