menu-icon
India Daily
share--v1

Muslim Reservation: मुस्लिम आरक्षण पर घमासान, किसे मिलेगा फायदा, किसका होगा घाटा?

auth-image
India Daily Live


भारत में मुस्लिम आरक्षण एक चुनावी मुद्दा बन गया है. नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ गठबंधन एनडीए का कहना है कि धर्म के आधार पर दिया जाना वाला हर आरक्षण असंवैधानिक है, इसलिए बीजेपी से खत्म करेगी. कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के दूसरे दलों का कहना है मुस्लिम आरक्षण जरूर मिलेगा. 

कांग्रेस ने कर्नाटक में मुस्लिम आरक्षण का प्रयोग भी किया है. ऐसे में इसे बीजेपी चुनावी मुद्दा बना रहा है. बीजेपी का कहना है कि हम मुस्लिम आरक्षण की समीक्षा करेंगे. मुस्लिम आरक्षण के बहाने वोट साधने की कवायद एक अरसे से होती रही है. 

बीजेपी का कहना है कि मुस्लिम आरक्षण नहीं मिलना चाहिए. एसटी, एससी और ओबीसी समुदाय के लोगों का हक कांग्रेस छीनकर मुस्लिमों को दे रही है. पीएम मोदी ने मंच से कई बार कहा है कि वे मुस्लिम आरक्षण नहीं लागू होने देंगे, जब तक वे जिंदा हैं तब तक ओबीसी आरक्षण कभी खत्म नहीं होगा.

मुस्लिम आरक्षण को लेकर सियासी कवायद होती रही है. लोकसभा चुनाव 2024 में जमकर इस पर सियासत हुई. अंतिम चरण के चुनाव अभी बाकी हैं ऐसे में सारी राजनीतिक पार्टियां अपने-अपने वर्गों को साधने की कोशिश में जुटी हैं. देखें आरक्षण पर सियासी घमासान की वजह.