menu-icon
India Daily
share--v1

आने वाले समय में इन 10 नौकरियों का रहेगा बोलबाला, जिनके पास है इसका ज्ञान वो छाप रहे करोड़ों

चैट जीपीटी, ugmented reality (AR) / virtual reality (VR) जैसी नई तकनीकों के आने से जहां एक तरफ लाखों लोगों की नौकरियों पर खतरा मंडरा रहा है, वहीं दूसरी तरफ इन तकनीकों की वजह से बड़े पैमाने पर नई नौकरियों के उत्सर्जन की संभावना भी जताई जा रही है.

auth-image
Sagar Bhardwaj
आने वाले समय में इन 10 नौकरियों का रहेगा बोलबाला, जिनके पास है इसका ज्ञान वो छाप रहे करोड़ों

Jobs: चैट जीपीटी (ChatGPT),  ugmented reality (AR) / virtual reality (VR) जैसी नई तकनीकों के आने से जहां एक तरफ लाखों लोगों की नौकरियों पर खतरा मंडरा रहा है, वहीं दूसरी तरफ इन तकनीकों की वजह से बड़े पैमाने पर नई नौकरियों के उत्सर्जन की संभावना भी जताई जा रही है.

2023 विश्व आर्थिक मंच (WEF) की रिपोर्ट के अनुसार, 75 प्रतिशत कंपनियां आने वाले पांच सालों में नई तकनीकों जैसे बिग डाटा ( Big Data), क्लाउड कंप्यूटिंग (Cloud Computing), एआई (AI) को पूरी तरह से अपनाने की ओर बढ़ चुकी हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, 'संगठनों का 34 प्रतिशत काम आज के समय में मशीनों से किया जा रहा है जबकि बाकी 66 प्रतिशत काम इंसानों द्वारा किया जा रहा है.' रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2027 तक कंपनियों का 42 प्रतिशत काम मशीनें करने लगेंगी.

यानी इस बात में कोई दो राय नहीं कि नवाचार की वजह ने कई प्रकार की नौकरियां खत्म हो जाएंगी लेकिन नई तकनीक ने नई नौकरियों के भी द्वार खोले हैं. आज हम आपको उन नौकरियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी डिमांड लगातार बढ़ रही है. अगर आपके पास इनमें से किसी भी क्षेत्र में विशेषज्ञता है तो आप इनसे जुड़कर करोड़ की कमाई कर सकते हैं.

Prompt engineers: Prompt engineers का काम  GPT-3.5 जैसे मॉडल की नेचुरल लैंग्वेज प्रोसेसिंग (NLP) की क्षमताओं का विकास करना और उनमें सुधार करना है. कुल मिलाकर  प्रॉम्ट इंजीनियर्स का काम चैट जीपीटी जैसे ऑटोमेटेड मॉडल की क्षमताओं में सुधार करना होगा, ताकि वह इंसान के सवालों का सटीक जवाब दे सकें.


Social media influencer: इंटरनेट की दुनिया का विस्तार होने से  सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स की तादाद भी दिनोदिन बढ़ती जा रही है.

यू-ट्यूब और टिकटॉक जैसे प्लैटफॉर्म पर वीडियो बनाकर ये लोग जमकर पैसा कमा रहे हैं. इंटरनेट यूजरों की संख्या बढ़ने के साथ ही कुछ इन्फ्लूएंसर्स वर्चुअली ब्रांड एंबेसडर  भी बन हए हैं. ब्रांड एंबेसडर बनकर ये कंपनियों के उत्पादों का अपने चैनलों पर प्रचार कर करोड़ों रुपए छाप रहे हैं.

AR/VR डेवलपर: ऑनलाइन गेम, सिमुलेशन और ट्रेनिंग प्रोग्राम और अन्य एप्लीकेशंस में बड़े पैमाने पर ऑगमेंटेड रियलिटी (AR) और वर्चुअल रियलिटी (VR) तकनीक का इस्तेमाल होता है. लोगों को बेहतर अनुभव प्रदान करने के लिए AR/VR डेवलपर इस तकनीक की बेहतरी के लिए काम करते हैं. AR/VR डेवलपर की डिमांड तेजी से बढ़ रही है.

Data Protection officers: अपने यूजर्स और अपनी वेबसाइट का डाटा सुरक्षित रखने के लिए कंपनियां डाटा प्रोटेक्शन ऑफिसर्स रखती हैं. लोगों का डेटा सुरक्षित रहे इसके लिए भारत समेत तमाम देशों की सरकारें डाटा प्रोटेक्शन कानून लागू कर रही हैं. डाटा को सुरक्षित रखने के लिहार से कंपनियों में डाटा प्रोटेक्शन अधिकारियों की डिमांड लगातार बढ़ती जा रही है.

एक डेटा के अनुसार, पिछले 2 सालों में भारत में  Data Protection officers की सप्लाई में 21 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है, जबकि इसी दौरान इनकी मांग में 32 प्रतिशत का उछाल आया है.

Drone operator: शादी समारोहों, सीमाई सुरक्षा, फोटोग्राफी,  सर्वे, निगरानी, एरियर फोटोग्राफी, सामान की डिलेवरी जैसे तमाम क्षेत्रों में अब ड्रोन का इस्तेमाल हो रहा है. जाहिर है जैसे-जैसे ड्रोन का इस्तेमाल बढ़ेगा ड्रॉन ऑपरेटरों की मांग में भी तेजी से इजाफा होगा. कई बड़ी कंपनियों जैसे ई-कॉमर्स साइट अमेजन और स्टार्टअप्स में ड्रोन ऑपरेटरों की भारी डिमांड देखी जा रही है.

कंपनियों को स्टाफ मुहैया कराने वाली NLB सर्विसेज के डेटा के अनुसार, भारत में वर्तमान में 20 प्रतिशत नौकरियां अकेले ड्रोन पायलट के क्षेत्र में निकल रही हैं.

Blockchain expert: Blockchain expert को डिस्ट्रीब्यूटिड लेजर टेक्नोलॉजी (DLT) का विशेषज्ञ माना जाता है.  इनका काम ब्लॉकचेन नेटवर्क्स और एप्लीकेशंस की डिजायन, विकास और रख-रखाव करना होता है. ब्लॉकचेन आधारित सिस्टम की सुरक्षा, पारदर्शिता और कार्यक्षमता को सुनिश्चित करने की भी जिम्मेदारी ब्लॉकचेन एक्सपर्ट्स की ही होती है.

जॉब पोर्टल Indeed के अनुसार, क्रिप्टोकरेंसी, ब्लॉकचेन, एनएफटी की नौकरियों में अप्रैल 2020 से अप्रैल 2022 के बीच 804 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. वहीं अकेले 2022 में इस क्षेत्र में 315 प्रतिशत की रिकॉर्ड वृद्धि देखी गई है.

Telemedicine doctor: हर हाथ में मोबाइल और हर मोबाइल में इंटरनेट होने की वजह से ऑनलाइन नौकरियों में ताबड़तोड़ इजाफा हो रहा है. Telemedicine doctor भी ऐसा ही एक मजेदार पेशा है. टेक्नोमेडिसिन डॉक्टर इंटरनेट पर वीडियो कॉल या अन्य तकनीक के माध्यम से दूरदराज इलाकों में मरीजों को मेडिकल परामर्श और उपचार बताते हैं. टेक्नोमेडिसिन डॉक्टर की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है. कोरोना के बाद भारत में टेक्नोमेडिसिन डॉक्टरों की संख्या में
महत्वपूर्ण उछाल देखा गया है.

AI ethics officer: आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) और मशीन लर्निंग (MI) तकनीकों का नैतिक और जिम्मेदार तरीके से विकास हो, इसकी जिम्मेदारी AI ethics officer की हबोती है. AI तकनीकों की कमियों को उजागर करना और उन्हें बेहतर बनाने के सुझाव देना इनका मुख्य कार्य होता है.

एआई और मशीन लर्निंग तकनीकों के बढ़ने के साथ भारत में AI ethics officers की डिमांड अपने चरम पर है. एआई और मशीन लर्निंग तकनीकों में रुचि रखने वाले इस क्षेत्र में भी बेहतर करियर बना सकते हैं.

यह भी पढ़ें: LUX कंपनी के ठिकानों पर IT की छापेमारी, शेयर हुआ धड़ाम! जानें क्या है मामला