menu-icon
India Daily
share--v1

Tata Group के इस कंपनी के शेयर मारेंगे उबाल, Investor हो जाएंगे मालामाल!

Tata Group in Share Market: टाटा समूह की प्रमुख कंपनी टाटा संस ने एक बड़ी घोषणा की है. यह कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज से अपने करोड़ों शेयर बेचेगी.

auth-image
India Daily Live
TATA Group Share

Tata Group in Share Market: इस सप्ताह के पहले दिन यानी सोमवार को शेयर मार्केट मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ है. सेंसेक्स में 0.14 फीसदी की बढ़त तो निफ्टी फिफ्टी में 0.15 फीसदी की मामूली बढ़त देखी गई. टाटा समूह के कई शेयरों में भी मामूली बढ़त देखी गई है. 18 मार्च को शेयर बाजार स्थिर दिखा. इसी बीच टाटा संस अपने एक आईटी कंपनी में शेयरों की हिस्सेदारी को बेचेगी. इस खबर से मार्केट प्रभावित होगा.

टाटा सन्स अपनी आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के 2.34 करोड़  शेयर लगभग 4,001 रुपये के हिसाब से बेचेगी. इस डील के जरिए कंपनी 1.1 बिलियन डॉलर रुपये रेज करना चाहती है. अगर ये डील पूरी होती है तो कंपनी के मार्केट कैप में उछाल आएगा. 

इतने में होगी डील

18 मार्च को टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के शेयर 1.78 फीसदी नीचे गिरकर 4,144.25 रुपये पर बंद हुए थे. टाटा सन्स ने जितने रुपये में शेयर बेचने के लिए कहा वो प्राइस 18 मार्च को बंद हुए शेयर की प्राइस से 3.6 फीसदी कम है.

31 दिसंबर 2023 तक टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज के शेयर में प्रमोटर के शेयर 72.41 फीसदी शेयर थे, जिसमें टाटा संस की हिस्सेदारी 72.38 फीसदी थी. इसके अलावा बाकी की हिस्सेदारी टाटा इन्वेस्टमेंट कॉर्पोरेशन के पास थी. रिपोर्ट्स की मानें तो टाटा संस द्वारा बेचे जा रहे शेयरों को सिटी ग्रुप और जेपी मॉर्गन मिलकर खरीद सकते हैं.

2.34 करोड़ शेयर मतलब 0.65 फीसदी की टीसीएस में हिस्सेदारी. यानी जो भी इतने शेयर खरीदेगा उसे टीसीएस की 0.65 फीसदी हिस्सेदारी मिल जाएगी.

कितना है मार्केट कैप?

मार्केट कैप के अनुसार TCS भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है. इसका मार्केट कैप करीब 15 लाख करोड़ रुपये है. वहीं, मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्री लिमिटेड भारत की सबसे बड़ी कंपनी है.

टाटा संस टाटा ग्रुप की मुख्य पैरेंट कंपनी है जो ग्रुप की अन्य कंपनियों की मुख्य शेयर होल्डर है. टाटा संस प्रमुख इन्वेस्टमेंट होल्डिंग कंपनी और टाटा कंपनियों की प्रमोटर कंपनी भी है.

टाटा संस की लिस्टिंग

इस महीने टाटा ग्रुप के कई स्टॉक फोकस में है. जब से स्पार्क कैपिटल की ओर से ये कहा गया है कि टाटा संस सितंबर 2025 तक बाजार में लिस्ट हो सकती है. उसके क्योंकि नॉन बैंकिंग फाइनेंसियल कारपोरेशन के रूप में यह अपने 3 साल पूरी कर चुकी होगी.

भारतीय रिजर्व बैंक के नियम के अनुसार न बैंकिंग फाइनेंसियल कारपोरेशन के रूप में काम कर रही कंपनियों को मार्केट में लिस्ट 3 साल के अंदर लिस्ट होना होगा. 

इस खबर से TCS के शेयरों में उछाल भी आ सकता है. इस कंपनी को पिछले 5 दिनों में 1.96 फीसदी की गिरावट आई है. 

डिस्क्लेमर:  यह खबर आपकी जानकारी के लिए लिखी गई है. THE INDIA DAILY LIVE  किसी को कहीं भी निवेश करने की सलाह नहीं दे रहा है. कहीं भी निवेश करने से पहले अपने आर्थिक सलाहकार से सलाह अवश्य लें.