menu-icon
India Daily
share--v1

DL बनवाने के नियमों में हुआ बदलाव, 1 जून से लागू होंगे नए नियम, RTO में ड्राइविंग टेस्ट देने की अनिवार्यता खत्म

अब बिना लाइसेंस के गाड़ी चलते हुए पकड़े जाने पर भारी जुर्माने का प्रावधान किया गया है. नाबालिग के केस में जुर्माने की रकम 25000 रुपए तक हो सकती है.

auth-image
India Daily Live
 Driving License
Courtesy: Social media

Driving License New Rules: भारत में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने में अब तक आपको कड़ी मशक्कत करनी पड़ती थी. कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद आपको आरटीओ के कई चक्कर लगाने पड़ते थे. यही नहीं इस पूरी प्रक्रिया में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार होता था. आरटीओ ऑफिस के बाहर बड़ी संख्या में दलाल बैठे रहते थे जो बिना किसी ड्राइविंग टेस्ट के पैसे लेकर लाइसेंस बनवा दिया करते थे जिसके कारण कई ऐसे लोगों को भी लाइसेंस मिल जाता था जिन्हें यातायात के नियमों को कोई जानकारी नहीं होती थी, लेकिन अब से ऐसा नहीं होगा.

क्योंकि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस के नियमों में महत्वपूर्ण बदलाव किया है, ये नियम 1 जून 2024 से लागू होंगे.

नियमों में बदलाव का उद्देश्य प्रत्येक नागरिक के  लिए ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया को आसान करना और लाइसेंस बनवाने में भ्रष्टाचार को खत्म करना है. आइए जानते हैं 1 जून 2024 से होने जा रहे इन बदलावों के बारे में...

1. प्राइवेट स्कूल में होगा ड्राइविंग टेस्ट

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए ने आरटीओ में ड्राइविंग टेस्ट की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है. अब आवेदक किसी प्राइवेट ड्राइविंग स्कूल में भी अपना ड्राइविंग टेस्ट दे पाएंगे.

ड्राइविंग स्कूल से प्राप्त होने वाले ड्राइविंग टेस्ट सर्टिफिकेट के आधार पर आवेदन अपना डीएल बनवा सकेंगे. इसके बाद उन्हें आरटीओ में ड्राइविंग टेस्ट देने की जरूरत नहीं होगी.सरकार इसके लिए कुछ प्राइवेट स्कूलों को ड्राइविंग टेस्ट कराने की मान्यता देगी. हालांकि जो आवेदन ड्राइविंग स्कूल में ड्राइविंग टेस्ट नहीं देंगे उन्हें आरटीओ में जाकर टेस्ट देना होगा.

2. बिना वैध ड्राइविंग लाइसेंस के गाड़ी चलाने पर अब भारी जुर्माना लगाया जाएगा. जुर्माने की रकम अब 2000 रुपए तक हो सकती है. अगर कोई नाबालिग गाड़ी चलाते हुए पकड़ा जाता है तो जुर्माने की रकम और ज्यादा होगी. इस स्थिति में जुर्माना 25000 रुपए तक भरना पड़ सकता है. इसके अलावा नाबालिग के अभिभावकों को भी कानूनी कार्रवाई से गुजरना होगा. यही नहीं उनकी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन भी रद्द किया जा सकता है.

3. डीएल की आवेदन प्रक्रिया हुई आसान
नए नियमों में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया को भी आसान किया गया है. ज्यादातर नियमों में कोई बदलाव नहीं हुआ है लेकन कागजी कार्रवाई को आसान किया गया है.

डील शुल्क में किया गया बदलाव
मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस की फीस में भी बदलाव किया है जो 1 जून 2024 से प्रभावी होगी. लर्नर लाइसेंस के लिए अब 200 रुपए, लर्नर लाइसेंस को रिन्यू कराने के लिए 200 रुपए, इंटरनेशनल लाइसेंस के लिए 1000 रुपए, पर्मानेंट लाइसेंस के लिए 200 रुपए, पर्मानेंट लाइसेंस रिन्यूवल के लिए 200 रुपए, रिन्यू किया हुआ ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने के लिए 200 रुपए भीस देनी होगी.