share--v1

Explainer: Paytm को ले डूबी ये 4 गलतियां

ये तो आप सभी जानते हैं कि RBI ने पेटीएम पेमेंट बैंक को बंद करने के निर्देश दिए हैं. लेकिन क्या आप इसके पीछे का कारण जानते हैं? अगर नहीं, चलिए बताते हैं कि पेटीएम से क्या-क्या गलतियां हुई हैं. 

auth-image
Shilpa Srivastava
फॉलो करें:
Courtesy: Canva

Explainer: Paytm पर मुश्किलों के बादल घिर चुके हैं. वित्त मंत्री से लेकर RBI तक, कोई भी Paytm की मदद करने के लिए तैयार नहीं है. जैसा कि आप जानते ही हैं Paytm पेमेंट बैंक को 29 फरवरी के बाद बंद कर दिया जाएगा. RBI ने पेटीएम बैंक को लेकर बड़ी कार्रवाई करते हुए आदेश दिया था कि डेडलाइन के बाद पेटीएम पेमेंट्स बैंक में किसी भी तरह का नया ट्रांजेक्शन नहीं किया जाएगा. सिर्फ यही नहीं, यूजर्स फास्टैग रिचार्ज से लेकर वॉलेट ट्रांजेक्शन भी नहीं कर पाएंगे.

ऐसे में पेटीएम पेमेंट बैंक के ग्राहक बेहद ही परेशान हैं और यह जानना चाहते हैं कि आखिर पेटीएम से ऐसी क्या गलती हुई कि RBI ने उस पर इतनी बड़ी कार्रवाई कर दी. RBI ने पेटीएम बैंक पर कार्रवाई क्यों कि और इसके यूजर्स को क्या नुकसान होने वाले हैं यह हम आपको यहां पर स्टेप बाय स्टेप बताएंगे. साथ ही इस परेशानी से पेटीएम पेमेंट बैंक यूजर्स कैसे निपट सकते हैं, ये भी बताएंगे. 

पेटीएम की गलतियां:
पहली गलती-
ऐसी रिपोर्ट्स सामने आई थीं कि एक ही पैन नंबर से 1000 से ज्यादा बैंक अकाउंट जुड़े हुए थे. इसके अलावा कई इनएक्टिव अकाउंट भी इनमें शामिल थे. इसे लेकर RBI और ऑडिटर्स ने वेरिफिकेशन प्रोसेस शुरू किया जिससे उन्हें पता चल पाए कि क्या यह सही है या नहीं. वेरिफिकेशन के दौरान बैंकों ने RBI को बताया कि पेटीएम पेमेंट बैंक ने जो कंप्यालंस सबमिट किया था वो गलत था. फिर इस बात की जानकारी RBI ने लॉ एनफोर्समेंट समेत होम मिनिस्ट्री और प्राइम मिनिस्टर ऑफिस में भी दी. 

दूसरी गलती- KYC कितनी जरूरी यह आपको पता ही होगा. सरकार भी KYC को लेकर काफी सख्त है लेकिन पेटीएम के कई अकाउंट अधूरी KYC पर ही चल रहे थे. पेटीएम पर कई अकाउंट्स को बिना प्रॉपर डॉक्यूमेंट्स के ओपन किया गया था. ऐसे कई लाखों अकाउंट हैं जिनकी KYC पूरी ही नहीं थी. 

तीसरी गलती- RBI को पेटीएम के इन अकाउंट्स पर तब शक हुआ जब इस तरह से अकाउंट्स से करोड़ों रुपयों की ट्रांजेक्शन की गई. RBI का मानना है कि इन अकाउंट्स का इस्तेमाल मनी लॉन्ड्रिंग के लिए किया गया है. सबसे बड़ी बात की पेटीएम को यह पता ही नहीं कि इस तरह के पैसे का सोर्स क्या है या फिर यह कहां से आ रहा है और कहां जा रहा है. वहीं, इसके लिए कंपनी ने कोई एक्शन भी नहीं लिया. 

चौथी गलती: पेटीएम के 35 करोड़ अकाउंट्स में से 31 करोड़ अकाउंट बंद पड़े हैं और जो 4 करोड़ अकाउंट एक्टिव हैं उनमें भी काफी कम पैसा पड़ा है. इसे लेकर कहा जा रहा है कि इस तरह के एक्टिव अकाउंट्स का इश्तेमाल केवल फर्जी ट्रांजेक्शन्स में ही किया जाता है. 

इस मामले पर कंपनी और RBI का क्या है स्टेटमेंट: 
क्या है पेटीएम का कहना-
पेटीएम पेमेंट बैंक ने अपने ग्राहकों को कहा है कि वो 29 फरवरी के बाद अपने अकाउंट और वॉलेट में पैसे डिपॉजिट या एड नहीं कर पाएंगे. हालांकि, डेडलाइन के बाद पैसे निकालने पर कोई पाबंदी नहीं होगी. इस निर्देश से आपके मौजूदा बैलेंस पर कोई असर नहीं होगा और आपका पैसा बैंक के साथ सुरक्षित है. 

RBI का क्या है कहना- सेंट्रल बैंक का कहना है कि 29 फरवरी, 2024 के बाद किसी भी कस्टमर अकाउंट, प्रीपेड इंस्ट्रूमेंट, वॉलेट, FASTags, NCMC कार्ड आदि में डिपॉजिट, क्रेडिट लेनदेन या टॉप अप की अनुमति नहीं दी जाएगी. इनमें केवल ब्याज, कैशबैक या रिफंड की ही अनुमति होगी. बता दें कि RBI ने यूजर्स को अपना पूरा डिपॉजिट निकालने का समय थोड़ा ज्यादा दिया है. सेंट्रल बैंक ने ग्राहकों को 15 मार्च तक का समय दिया है. इस दिन तक ग्राहक अपना सारा पैसा निकल सकते हैं.  

पेटीएम पर कौन-सी सर्विस बंद होंगी और कौन-सी नहीं, जानने के लिए क्लिक करें यहां- 29 फरवरी के बाद बंद हो जाएगा Paytm बैंक, जानें कौन-सी सर्विस मिलेगी और कौन-सी नहीं

Also Read

First Published : 08 February 2024, 11:38 AM IST