share--v1

PM Modi Varanasi Visit: काशी में देर रात सड़क पर निकले PM मोदी और योगी, जानें वाराणसी को क्या-क्या मिलने वाली है सौगात?

PM Modi Varanasi Visit: पीएम मोदी को काशी में कई विकास परियोजनाओं की शुरुआत करेंगे. इससे पहले उन्होंने रात के वक्त शिवपुर-फुलवरिया-लहरतारा फोर-लेन सड़क का निरीक्षण किया. इस दौरान उनके साथ यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे. जिसकी तस्वीरें PM मोदी ने सोशल मीडिया पर शेयर की है.

auth-image
India Daily Live

PM Modi Varanasi Visit: पीएम मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौर पर है. इस दौरान वह कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने वाले है. बीती रात एलबीएसआई हवाई अड्डे पर उतरने के बाद रात्रि विश्राम के लिए बीएलडब्ल्यू गेस्ट हाउस जाते समय पीएम मोदी ने शिवपुर-फुलवरिया-लहरतारा फोर-लेन सड़क का जायजा लिया और लोगों का अभिवादन भी किया.

गुजरात में लंबे और व्यस्त दिन के बाद प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार की देर रात शिवपुर-फुलवरिया-लहरतारा मार्ग का निरीक्षण करने पहुंचे. यह परियोजना 360 करोड़ रुपये की लागत से बनी है. यह बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) से हवाई अड्डे की ओर यात्रा की दूरी को 75 मिनट से घटाकर 45 मिनट करने में मदद करेगा. वह 23 फरवरी से दो दिवसीय दौरे पर रहेंगे. पीएम मोदी अपनी यात्रा के दौरान पूर्वांचल में 13167.07 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का तोहफा देने वाले है. 

'बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में अपने परिवार के सदस्यों के बीच'

वाराणसी दौरे को लेकर PM मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट में लिखा "गुजरात के कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के बाद अब मैं बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में अपने परिवार के सदस्यों के बीच हूं. कल बनास डेयरी काशी कॉम्प्लेक्स समेत कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने का अवसर मिलेगा. मैं संत रविदास जयंती के अवसर पर एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए उत्सुक हूं. मैं एक प्रतिमा का अनावरण करूंगा और संत रविदास संग्रहालय और पार्क की आधारशिला रखूंगा."

PM मोदी के स्वागत में उमड़े काशीवासी

इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ और उनके कैबिनेट सहयोगियों ने एयरपोर्ट पर मोदी का स्वागत किया. प्रधानमंत्री के रोड शो के दौरान जगह-जगह चौराहों पर मौजूद पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पीएम मोदी पर फूलों की वर्षा करते हुए गर्मजोशी से स्वागत किया. 

जानें PM मोदी का क्या रहने वाला है क्रार्यक्रम? 

प्रधानमंत्री सुबह सबसे पहले बीएचयू के स्वतंत्रता भवन में कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे. इसके बाद वह संत शिरोमणि रविदास की जन्मस्थली जाकर पूजा-अर्चना करेंगे और श्रद्धालुओं को संबोधित करेंगे. इसके बाद पीएम करखियांव एग्रो पार्क में बनास काशी संकुल (अमूल डेयरी) का दौरा करेंगे. इसके बाद पीएम करखियांव एग्रो पार्क में बनास काशी संकुल (अमूल डेयरी) का दौरा करेंगे, 10972.00 करोड़ रुपये की 23 परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे और पार्क परिसर में 2195.07 करोड़ रुपये की 12 परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे. पीएम यहां से एक बड़ी जनसभा को भी संबोधित करेंगे, जिसमें बड़ी संख्या में किसान मौजूद रहेंगे. 

संसद फोटोग्राफी प्रतियोगिता गैलरी में लेगें हिस्सा 

वह काशी संसद फोटोग्राफी प्रतियोगिता गैलरी का भी दौरा करेंगे. जहां प्रतिभागियों के साथ समवर्ती काशी विषय पर उनकी फोटोग्राफ के संबंध में बातचीत करेंगे.  करीब एक घंटे के कार्यक्रम के बाद पीएम सड़क मार्ग से करीब 11:45 बजे सीरगोवर्धन पहुंचेंगे. वाराणसी के मशहूर टेक्सटाइल सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री वाराणसी में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (NIFT) की आधारशिला रखेंगे. यह नया संस्थान कपड़ा क्षेत्र में शिक्षा और प्रशिक्षण के बुनियादी ढांचे को मजबूत करेगा.

वाराणसी में एक नए मेडिकल कॉलेज की रखेंगे आधारशिला 

प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी में एक नए मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखेंगे. इसके साथ वह बीएचयू में नेशनल सेंटर ऑन एजिंग की आधारशिला भी रखेंगे. प्रधानमंत्री सिगरा स्पोर्ट्स स्टेडियम चरण 1 और जिला राइफल शूटिंग रेंज का उद्घाटन करेंगे, जो शहर में खेल के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की दिशा में एक कदम है. पीएम मोदी वाराणसी में कई शहरी विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे, जिसमें रमना में एनटीपीसी द्वारा शहरी अपशिष्ट-से-चारकोल संयंत्र, सिस-वरुणा क्षेत्र में जल आपूर्ति नेटवर्क का उन्नयन और ऑनलाइन अपशिष्ट निगरानी और एसटीपी-सीवरेज पंपिंग का एससीएडीए स्वचालन स्टेशन शामिल है. 

वाराणसी को चमकाने का प्लान तैयार

प्रधानमंत्री वाराणसी के सौंदर्यीकरण के लिए कई परियोजनाओं की आधारशिला भी रखेंगे, जिनमें तालाबों के कायाकल्प और पार्कों के पुनर्विकास की परियोजनाएं और 3-डी शहरी डिजिटल मानचित्र और डेटाबेस के डिजाइन और विकास की परियोजना शामिल है. प्रधानमंत्री वाराणसी में पर्यटन और आध्यात्मिक पर्यटन से जुड़ी कई परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे. इन परियोजनाओं में पंचकोशी परिक्रमा मार्ग पर दस आध्यात्मिक यात्राएं और पावन पथ पर पांच पड़ावों पर सार्वजनिक सुविधाओं का पुनर्विकास शामिल है. 

Also Read