menu-icon
India Daily
share--v1

Vinesh Phogat: बृजभूषण से पंगा, मेंटल हेल्थ का इश्यू, क्या अब ओलंपिक में कमाल कर पाएंगी विनेश फोगाट?

Asian Olympic Qualifiers, Vinesh Phogat: ये वही विनेश फोगाट हैं, जो पिछले डेढ़ साल से विवादों में रही हैं. अब सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या विनेश पेरिस ओलंपिक में कमाल दिखा पाएंगी?

auth-image
India Daily Live
Vinesh Phogat

Asian Olympic Qualifiers, Vinesh Phogat: भारत की महिला रेसलर विनेश फोगाट 20 अप्रैल को कमाल कर दिया. उन्होंने एशियन ओलंपिक क्वालिफायर के सेमीफाइनल में धमाकेदार जीत हासिल की और पेरिस ओलंपिक के लिए कोटा हासिल कर दिखाया. विनेश ने 50 किलोग्राम कैटेगरी के सेमीफाइनल मैच में कजाकिस्तान की लौरा गनिक्यजी को शिकस्त दी है. विनेश ने गनिक्यजी को 10-0 से हराया है. एशियन ओलिंपिक क्वालिफायर किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में खेले जा रहे हैं.

लगातार तीसरी बार कोटा दिलाया

ये लगातार तीसरी बार है जब विनेश ने ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया है. इससे पहले वे साल 2020 के टोक्यो और 2016 के रियो ओलंपिक के लिए भी कोटा हासिल कर चुकी हैं. खास बात ये है कि वो लगातार तीन ओलिंपिक के लिए कोटा हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान हैं.



विनेश ने भारत को दूसरा कोटा दिलाया

भारत को पेरिस ओलंपिक का कोटा दिलाने वाली विनेश दूसरी रेसलर हैं, उनसे पहले अंतिम पंघाल 53 KG में ओलंपिक कोटा हासिल कर चुकी हैं.  यह भारत का ओवरऑल ओलंपिक में 45वां कोटा है. विनेश फोगाट के अलावा, अंशु मलिक ने 57 किग्रा और रितिका ने 76 किग्रा कैटेगरी में ओलंपिक कोटा हासिल किया है.

विवादों में रहीं विनेश फोगाट

ये वही विनेश फोगाट हैं, जो पिछले डेढ़ साल से विवादों में रही हैं. उन्होंने साक्षी मलिक, बजरंग पूनिया के साथ मिलकर WFI के तत्कालीन अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला था. बृजभूषण शरण सिंह पर रेसलर्स के यौन उत्पीड़न के आरोप भी थे, जिन पर कार्रवाई की मांग लेकर पहलवानों ने दिल्ली के जंतर-मंतर मैदान पर धरना भी दिया. पहलवानों के प्रदर्शन के चलते खेल मंत्रालय ने WFI की कार्यकारिणी को भंग कर दिया था.

खेल रत्न और अर्जुन अवार्ड लौटाया था

बृजभूषण के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से निराश होकर विनेश फोगाट ने 4 महीने पहले अपना खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड लौटा दिया था. उन्होंने 30 दिसंबर 2023 को PM ऑफिस के बाहर कर्तव्य पथ पर अपने अवॉर्ड रख दिए थे. जिस पर खूब बवाल हुआ था.

मानसिक प्रताड़ना का आरोप

कुछ दिनों पहले विनेश ने आरोप लगाया था कि अगर मैं ऐसा कहूं कि मुझे डोप में फंसाने की साजिश हो सकती है तो गलत नहीं होगा, हमें मानसिक रूप से प्रताड़ित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही,  इतनी महत्वपूर्ण स्पर्धा से पहले हमारे साथ ऐसे मानसिक उत्पीड़न कहां तक जायज है.

ओलंपिक में कमाल कर पाएंगी विनेश फोगाट?

विनेश के जीवन में पिछले 2 साल में लगभग काफी कुछ घटा है. वे सड़क पर उतरीं. प्रदर्शन किया. WFI के तत्कालीन अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी. हालांकि अब उन्होंने पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि वो ओलंपिक में क्या कमाल करती हैं.