menu-icon
India Daily
share--v1

WPL 2024: होम-अवे फॉर्मेट में नहीं खेला जाएगा वूमेन प्रीमियर लीग का अगला सीजन, BCCI वादे से मुकरा?

Women Premier League 2024: लगता है भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड अपने वादे से पीछे हट रहा है क्योंकि महिला प्रीमियर लीग के 2024 संस्करण को भी होम और अवे फॉर्मेट के बगैर कराने का फैसला किया गया है.

auth-image
Antriksh Singh
WPL 2024: होम-अवे फॉर्मेट में नहीं खेला जाएगा वूमेन प्रीमियर लीग का अगला सीजन, BCCI वादे से मुकरा?

WPL 2024: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने महिला प्रीमियर लीग (WPL) के 2024 संस्करण को भी होम और अवे फॉर्मेट के बगैर कराने का फैसला किया है. लगता है बीसीसाआई के नीति-नियंता अपने वादे से पीछे हट गए हैं. विमेंन्स क्रिकजोन के अनुसार, WPL 2024 दो शहरों - बेंगलुरु और मुंबई में खेला जाएगा.

पहले होम-अवे फॉर्मेट पर क्या बातचीत हुई थी

इससे पहले अप्रैल में, IPL के अध्यक्ष अरुण धूमल ने घोषणा की थी कि बोर्ड अगले तीन वर्षों के लिए  WPL 2024 को दिवाली-विंडो में होम और अवे के प्रारूप में खेला जाएगा.

धूमल ने इस साल अप्रैल में PTI से कहा था, "हमने पांच टीमों के साथ शुरुआत की है, लेकिन आगे चलकर आने वाले सालों में खिलाड़ियों के पूल को देखते हुए अतिरिक्त टीम के लिए गुंजाइश है. हम टीमों की संख्या बढ़ाने की उम्मीद कर रहे हैं लेकिन आने वाले तीन सीजन के लिए पांच ही फ्रेंचाइंजी रहेंगे. भारत की अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं को देखते हुए कौन सा टाइम स्लॉट उपलब्ध है, यह देखेंगे और निर्णय लेंगे."

हालांकि, ऐसा लगता है कि बोर्ड ने अपने वादे पर यू-टर्न लिया है और टूर्नामेंट को दो शहरों तक ही सीमित रखेगा.

Read Also- World Cup 2023: अक्षर पटेल की टीम इंडिया में वापसी! बेंगलुरु में सिराज के साथ शामिल हुए स्पिन ऑलराउंडर

WPL 2024 फरवरी में शुरू होगा

रिपोर्टों में आगे कहा गया है कि टूर्नामेंट अगले साल फरवरी में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ टीम इंडिया की घरेलू सीरीज के समापन के बाद शुरू होगा. WPL 2024 डबल राउंड-रॉबिन प्रारूप में होगा. जहां सभी 5 टीमें एक-दूसरे के साथ दो बार खेलेंगी और टॉप की तीन टीमें नॉकआउट में पहुंचेंगी.

पहले सीजन की तरह, टेबल टॉपर सीधे फाइनल में जाएगा, जबकि अन्य दो टीमें एलिमिनेटर में खेलेंगी. बता दें, 19 अक्टूबर को BCCI ने खिलाड़ियों की रिटेंशन लिस्ट जारी की थी. पांच फ्रेंचाइजी ने कुल 60 खिलाड़ियों को बरकरार रखा और उनमें से 29 को रिलीज कर दिया.