menu-icon
India Daily
share--v1

World Cup 2023: वर्ल्ड कप से बाहर हुए बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन, जानिए क्यों

World Cup 2023: बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान शाकिब अल हसन को क्रिकेट विश्व कप से बाहर कर दिया गया है. बांग्लादेश की टीम पहले ही विश्व कप 2023 के सेमीफाइनल से बाहर हो चुकी है

auth-image
Antriksh Singh
World Cup 2023: वर्ल्ड कप से बाहर हुए बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन, जानिए क्यों

ODI World Cup 2023: बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान शाकिब अल हसन को श्रीलंका के खिलाफ सोमवार को मैच के दौरान बाएं हाथ की इंडेक्स (तर्जनी) उंगली में चोट लगने के बाद क्रिकेट विश्व कप से बाहर कर दिया गया है.

खेल के बाद हुए एक्स-रे में फ्रैक्चर की पुष्टि हुई है, जिसने उन्हें 11 नवंबर को पुणे में होने वाले बांग्लादेश बनाम ऑस्ट्रेलिया मैच से बाहर कर दिया है.

राष्ट्रीय टीम के फिजियोथेरेपिस्ट बायजिदुल इस्लाम खान ने चोट के बारे में जानकारी दी. उन्होंने कहा, "शाकिब को उनकी पारी के शुरुआत में बाएं हाथ की तर्जनी उंगली में चोट लगी थी, लेकिन उन्होंने टेपिंग और पेन किलर के साथ बल्लेबाजी करना जारी रखा."

शाकिब का दिल्ली में एक आपातकालीन एक्स-रे किया, जिसमें बाएं हाथ के पीआईपी जोड़ पर फ्रैक्चर की पुष्टि हुई. रिकवरी का अनुमान तीन से चार सप्ताह है. बांग्लादेश के लिए रवाना हो गए हैं.

ध्यान दें कि, बांग्लादेश की टीम पहले ही विश्व कप 2023 के सेमीफाइनल से बाहर हो चुकी है, लेकिन यह मैच उनके चैंपियंस ट्रॉफी 2025 के लिए क्वालीफिकेशन के लिए महत्वपूर्ण होगा.

Read More- World Cup 2023: ग्लेन मैक्सवेल का 'मॉन्स्टर' अंदाज, 'ODI इतिहास की बेस्ट पारी' को सचिन, सहवाग, स्टोक्स का सलाम

असल में टॉप की 7 टीमें 2025 में होने वाले चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट के लिए क्वालीफाई करेंगी. बांग्लादेश वर्तमान में अंक तालिका में 8वें स्थान पर है और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत से आईसीसी टूर्नामेंट के लिए उनका क्वालीफिकेशन सुनिश्चित हो जाएगा.

शाकिब टूर्नामेंट में विवादों से घिरे हुए थे. हाल ही में सोमवार को श्रीलंका के खिलाफ मैच में श्रीलंकाई बल्लेबाज एंजेलो मैथ्यूज को अपील के बाद 'टाइम आउट' दिया गया था.

मैथ्यूज ने खेल के बाद मीडिया से कहा, "बिल्कुल शर्मनाक. हम सभी जीतने के लिए खेलते हैं, लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा था कि कोई टीम या खिलाड़ी विकेट लेने के लिए इतने नीचे गिर जाएगा."

हालांकि, शाकिब ने अपने फैसले का बचाव किया और कहा कि उन्हें "कोई पछतावा नहीं है". जो हुआ वह उसके लिए दुर्भाग्यपूर्ण था, लेकिन नियम कायदे हैं.