share--v1

क्या बच्चों की आंत में चिपकी रह जाती है चुइंगम, पेरेंट्स को करनी चाहिए कितनी टेंशन? जानें क्या है सच

Does chewing gum stay in the stomach forever: चुइंगम चबाते समय कभी-कभी हम निगल भी जाते हैं.

Gyanendra Tiwari
Gyanendra Tiwari
फॉलो करें:
Courtesy: Health News in Hindi

कहा जाता है कि निगला हुआ चुइंगम हमेशा पेट में रहता है. ये बच्चों की आंत में चिपका रहता है. इसी तरह से कई प्रकार की बातें इसे लेकर जाती हैं लेकिन इसकी सच्चाई कुछ और ही है. आज हम आपको बताएंगे कि आखिर सच क्या है.

कहा जाता है कि निगला हुआ चुइंगम हमेशा पेट में रहता है. ये बच्चों की आंत में चिपका रहता है. इसी तरह से कई प्रकार की बातें इसे लेकर जाती हैं लेकिन इसकी सच्चाई कुछ और ही है. आज हम आपको बताएंगे कि आखिर सच क्या है.

Courtesy: Health News in Hindi

बचपन में हम सब मजे-मजे में चुइंगम (Chewing Gum) चबाते-चबाते थे तो कभी-कभी इसे निगल भी जाया करते थे. इससे घर वाले बहुत परेशान होते थे.

बचपन में हम सब मजे-मजे में चुइंगम (Chewing Gum) चबाते-चबाते थे तो कभी-कभी इसे निगल भी जाया करते थे. इससे घर वाले बहुत परेशान होते थे.

Courtesy: Health News in Hindi

चुइंगम के निगल जाने को लेकर तरह-तरह की धारणा बनी है. कहा जाता है कि ये हमारे पेट में जाता है और आंतों में चिपक जाता है. जब बच्चे इसको निगल जाते हैं तो पेरेंट्स भी टेंशन में आ जाते हैं. इसे लेकर वो बहुत परेशान हो जाते हैं.

चुइंगम के निगल जाने को लेकर तरह-तरह की धारणा बनी है. कहा जाता है कि ये हमारे पेट में जाता है और आंतों में चिपक जाता है. जब बच्चे इसको निगल जाते हैं तो पेरेंट्स भी टेंशन में आ जाते हैं. इसे लेकर वो बहुत परेशान हो जाते हैं.

Courtesy: Health News in Hindi

यह बहुत लचीली और चिपचिपी होती है. खेल के दौरान प्लेयर्स चुइंगम चबाते हैं. इसे चबाने से घंटो तक प्यास नहीं लगती. चबाने के बावजूद ये जैसे का तैसा रहता है. कहा जाता है कि पेट में जाने के बाद ये हमारे शरीर के डाइजेशन सिस्टम को भी खराब कर देता है.

यह बहुत लचीली और चिपचिपी होती है. खेल के दौरान प्लेयर्स चुइंगम चबाते हैं. इसे चबाने से घंटो तक प्यास नहीं लगती. चबाने के बावजूद ये जैसे का तैसा रहता है. कहा जाता है कि पेट में जाने के बाद ये हमारे शरीर के डाइजेशन सिस्टम को भी खराब कर देता है.

Courtesy: Health News in Hindi

सच क्या है? चुइंगम को लेकर एक्सपर्ट्स ने भी अपने तर्क दिए हैं. ये घुलनशील नहीं होता है. यानी जैसे आपके मुंह में रहता है ठीक उसी प्रकार ये आपके पेट में भी रहता है. इसे डाइजेस्ट करने के लिए हमारा शरीर डाइजेस्टिव एंजाइम भी नहीं पैदा करता है. जैसे आम फूड आइटम्स हमारी बॉडी में डाइजेशन के बाद आगे बढ़ते हैं ठीक उसी प्रकार चुइंगम भी मल के जरिए हमारी बॉडी से बाहर निकल जाता है. Disclaimer : यहां दी गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. theindiadaily.com इन मान्यताओं और जानकारियों की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह ले लें.

सच क्या है? चुइंगम को लेकर एक्सपर्ट्स ने भी अपने तर्क दिए हैं. ये घुलनशील नहीं होता है. यानी जैसे आपके मुंह में रहता है ठीक उसी प्रकार ये आपके पेट में भी रहता है. इसे डाइजेस्ट करने के लिए हमारा शरीर डाइजेस्टिव एंजाइम भी नहीं पैदा करता है. जैसे आम फूड आइटम्स हमारी बॉडी में डाइजेशन के बाद आगे बढ़ते हैं ठीक उसी प्रकार चुइंगम भी मल के जरिए हमारी बॉडी से बाहर निकल जाता है. Disclaimer : यहां दी गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. theindiadaily.com इन मान्यताओं और जानकारियों की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह ले लें.