menu-icon
India Daily
share--v1

क्या होता है PET-CT स्कैन, जिसके लिए सुप्रीम कोर्ट से अपनी जमानत बढ़वाना चाहते हैं अरविंद केजरीवाल?

What Is PET-CT Scan: आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने PET-CT स्कैन टेस्ट करवाने के लिए अंतरिम जमानत 7 दिन बढ़ाने की मांग की है. बता दें, PET-CT स्कैन से कैंसर और हृदय संबंधी बीमारियों की जांच की जाती है.

auth-image
India Daily Live
Arvind Kejriwal
Courtesy: Pinterest

CM Arvind Kejriwal: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके मेडिकल टेस्ट कराने के लिए अपनी अंतरिम जमानत 7 दिन बढ़ाने की मांग की है. आप प्रमुख ने PET-CT स्कैन और अन्य मेडिकल जांच के लिए समय मांगा है. सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लोकसभा चुनाव 2024 के प्रचार के लिए दिल्ली शराब नीति मामले में अंतरिम जमानत दे दी.

बता दें, PET-CT स्कैन एक टेस्ट है जिसका मदद से आम तौर पर कैंसर और हृदय संबंधी बीमारियों की जांच की जाती है. सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लोकसभा चुनाव 2024 के प्रचार के लिए दिल्ली शराब नीति मामले में अंतरिम जमानत दे दी थी. आइए विस्तार से PET-CT स्कैन के बारे में जानते हैं.

क्या होता है PET-CT स्कैन?

यह PET स्कैन और CT स्कैन दोनों मिलकर बना है. PET-CT स्कैन एक इमेजिंग तकनीक जो शरीर के अंदर की फोटो तैयार करता है. यह कैंसर बीमारी की पूरी जानकारी देता है. CT स्कैन आपके शरीर के चारों ओर से एक्स-रे लेता है और उसे 3D फोटो बनाने के लिए एक साथ रखता है. वहीं, PET स्कैन आपके शरीर के हल्के रेडियोएक्टिव ट्रेसर का इस्तेमाल करता है जिससे शरीर के अंगों और कोशिकाओं के बीमार और स्वस्थ होने का पता लगाया जा सकता है.

PET-CT स्कैन का इस्तेमाल

PET-CT स्कैन का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है ताकि कैंसर कितना गंभीर है इसका पता लगाया जा सके. वहीं, शरीर के बाकी हिस्सों में फैल रहा है कि नहीं इसके बारे में भी पता लगाते हैं. शुरुआती फेज बाकी टेस्ट जैसे की MRI के मुकाबले PET-CT स्कैन में ज्यादा क्लियर नजर आता है. PET-CT स्कैन का इस्तेमाल दिमाग की बीमारी के लिए, दिल की बीमारी के लिए और सेंट्रल नर्वस सिस्टम के जांच के लिए किया जाता है. 

ये लोग रखें खास ध्यान

PET-CT स्कैन कराने से पहले डायबिटीज के मरीज, गर्भवती महिलाएं को एलर्जिक पेशेंट को खास ख्याल रखना चाहिए. इसके अलावा स्कैन करवाने से पहले 24 घंटे यानी एक दिन पहले से किसी प्रकार का नशा जैसे शराब ,गुटखा ,बीड़ी सिगरेट का सेवन नहीं करना चाहिए. इसके अलावा टेस्ट होने से 6 घंटे पहले तक कुछ भोजन का सेवन और पानी नहीं पीना चाहिए.