menu-icon
India Daily
share--v1

Blood Sugar को करना है कंट्रोल तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे, बहुत आराम से कम हो जाएगी शुगर

How to Control Blood Sugar: 21वीं सदी में शुगर की समस्या बेहद आम आम हो चली है. ऐसे में तमाम लोग इसे ठीक करने के लिए दवाओं के बजाय घरेल नुस्खे अपनाते हैं और कई बार इससे उन्हें फायदा भी होता है.

auth-image
India Daily Live
Fenugreek seeds
Courtesy: Social Media

आज के युग में बीमारी का सबसे बड़ा कारण खराब जीवनशैली और अनियमित खान-पान हैं. अगर रिपोर्ट्स की मानें तो मानसिक तनाव और अंधाधुंध मीठी चीजों के सेवन की वजह से हर पांचवां व्यक्ति डायबिटीज से पीड़ित है. शुगर के मरीजों को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए, जिससे आप कई अन्य खतरनाक बीमारियों का शिकार न बन सकें. यही शुगर धीरे-धीरे खून में घुलती जाती है और इंसान के शरीर में तमाम बीमारियों की वजह बनती है.

अगर डायबिटीज की समस्या को समय रहते नियंत्रित नहीं किया गया तो यह बहुत खतरनाक हो सकती है, जिससे शरीर के कई अंग भी बुरी तरह प्रभावित हो सकते हैं. शुगर को कंट्रोल करने के लिए लोग कई तरह के उपाय करते हैं. आप चाहें तो सिर्फ मेथी के सेवन से प्राकृतिक रूप से डायबिटीज को कंट्रोल कर सकते हैं. 

क्या मेथी कर सकती है शुगर कंट्रोल?

प्राचीन काल से ही मेथी को औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता था. आज भी पेट खराब होने से लेकर बहुत सी बीमारियों में लोग मेथी का प्रयोग औषधी के रुप में करते हैं. औषधीय गुणों से भरपूर मेथी का आयुर्वेद में बहुत महत्व है. इसमें सोडियम, जिंक, फॉस्फोरस, फोलिक एसिड, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन ए, विटामिन बी और विटामिन सी के अलावा फाइबर, प्रोटीन, स्टार्च, शुगर, फॉस्फोरिक एसिड जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं. जो ब्लड प्रेशर और शुगर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं.

मेथी का सेवन कैसे करना चाहिए?

आमतौर पर लोग भोजन बनाते समय मेथी का प्रयोग करते हैं. हालांकि, यह शरीर के लिए काफी लाभदायक भी होता है. वहीं शुगर के मरीजों को रात के समय एक चम्मच मेथी को एक गिलास पानी में भिगो लेना चाहिए. इसके बाद अगले दिन इसे छानकर खाली पेट पिएं. आप चाहें तो बीजों को वैसे ही खा सकते हैं. अगर बीज कड़वे लगें तो उन्हें दो से तीन दिन में अंकुरित कर सकते हैं. उसके बाद इसे खा सकते हैं. इस प्रकार से मेथी का सेवन करने से शुगर के मरीजों को उनकी बीमारी से काफी राहत मिल जाती है. 

नोट- यह लेख केवल सामान्य जानकारी पर आधारित है. ज्यादा जानकारी के लिए विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें.