menu-icon
India Daily
share--v1

अगर आप भी हैं सेक्स एडिक्शन का शिकार, तो बढ़ सकती है मुश्किलें, ऐसे करें बचाव

Tips to help for Sex Addiction: एक्सपर्ट्स के अनुसार किसी भी इंसान के लिए सेक्स की लत एक वास्तविक संभावना है, जो कि आपकी सेहत पर गंभीर परिणाम दे सकती है. आखिर इस लत से निपटने के तरीके बारे में यहां जानते हैं-

auth-image
India Daily Live
Sex Addict
Courtesy: Freepik

Tips to help for Sex Addiction: "अच्छी चीजों की भी अति बुरी होती है" ये कहावत सेक्स लाइफ पर भी बिल्कुल सटीक बैठती है. एक हेल्दी सेक्स लाइफ रिश्तों और पूरे स्वास्थ्य के लिए तो बहुत अच्छी होती है, लेकिन अगर ये आपकी जिंदगी पर हावी होने लगे या भावनात्मक परेशानियों से बचने का एकमात्र तरीका बन जाए, तो ये प्रॉब्लम बन सकती है.

मुंबई की मनोवैज्ञानिक प्रियंका कपूर कपल काउंसलिंग में माहिर हैं. वो बताती हैं कि कई सुखद गतिविधियों की तरह, अगर सेक्स को एक अस्वस्थ तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो ये परेशानी का सबब बन सकता है. सेक्स से मिलने वाला आनंद का रिस्पांस मस्तिष्क में डोपामाइन और सेरोटोनिन जैसे रसायनों को रिलीज करता है, जिससे खुशी का एहसास मिलता है. लेकिन, अगर नकारात्मक भावनाओं से बचने के लिए बार-बार इसका सहारा लिया जाए, तो सेक्स एक आदत बन सकती है, जिससे निर्भरता का चक्र बन सकता है. नतीजा ये होता है कि व्यक्ति हेल्दी तरीकों से तनाव या चिंता का सामना करना भूल जाता है.

आप कैसे जान सकते हैं कि आपकी सेक्स लाइफ अस्वस्थ है?

भावनात्मक बैसाखी बनना: क्या आप तनाव, घबराहट या किसी भी तरह के भावनात्मक उतार-चढ़ाव से निपटने के लिए सिर्फ सेक्स पर निर्भर रहते हैं? एक हेल्दी रिश्ते में जुड़ाव और आराम पाने के लिए दूसरे रास्ते भी होने चाहिए. बातचीत या शौक पर ध्यान देना रिश्ते को मजबूत बनाता है और भावनात्मक मजबूती देता है.

जुनून और दबाव: क्या आप हर समय सेक्स के बारे में ही सोचते रहते हैं, बेकाबू इच्छा महसूस करते हैं, या अपने साथी पर शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डालते हैं?  इस तरह का व्यवहार रिश्तों में खटास ला सकता है और आपके साथी को असहज महसूस करा सकता है. इससे भी बढ़कर, ये यौन हिंसा की श्रेणी में भी आ सकता है. रिश्तों में सहमति सबसे अहम है.

अतीत के जख्म: यौन हिंसा या दुर्व्यवहार का इतिहास सेक्स के प्रति घृणा, डर या अरुचि पैदा कर सकता है. ये भावनाएं रिश्तों और सेक्स लाइफ को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकती हैं. अगर आप ऐसी किसी चीज से जूझ रहे हैं, तो खुद को अकेला ना समझें.  पेशेवर मदद लेना बहुत जरूरी है. एक अनुभवी थेरेपिस्ट आपको इन चुनौतियों से पार पाने में मदद कर सकता है.

सांस्कृतिक प्रभाव: सेक्स को लेकर अलग-अलग संस्कृतियों या धर्मों की मान्यताओं में अंतर होने से रिश्ते में तनाव आ सकता है.  इस बारे में खुलकर बातचीत करना और सेक्स थेरेपी में माहिर किसी थेरेपिस्ट से पेशेवर मार्गदर्शन लेना मददगार हो सकता है. एक सेक्स-पॉजिटिव (sex-positive) रवैया अपनाने से भी फायदा हो सकता है, जहां सेक्स को स्वास्थ्य और खुशी का एक सकारात्मक हिस्सा माना जाता है.

जीवन पर नकारात्मक प्रभाव: अगर आपका यौन व्यवहार आपके रिश्तों, मानसिक स्वास्थ्य या पूरे जीवन को नुकसान पहुंचा रहा है, तो ये संकेत है कि आपको शायद पेशेवर मदद लेने की जरूरत है.

कैसे बढ़ें हेल्दी सेक्स लाइफ की तरफ बढ़ना

कपूर कुछ उपाय सुझाती हैं, जिनको अपनाकर आप एक हेल्दी सेक्स लाइफ की तरफ बढ़ सकते हैं:

आत्म-जागरूकता: पहला कदम है अस्वस्थ पैटर्न को पहचानना. अपनी भावनाओं और आप सेक्स को किस तरह से मुकाबले के तौर पर इस्तेमाल करते हैं,  इस पर नजर रखने के लिए एक जर्नल रखें.

मेडिटेशन या आत्म-चिंतन: ध्यान जैसी तकनीकें आपको अपने भावनात्मक ट्रिगर्स को समझने और उनसे निपटने के लिए हेल्दी तरीके विकसित करने में मदद कर सकती हैं.

लाइफ-बैलेंस:  अपने दिमाग, शरीर और सामाजिक जीवन को पोषण देने वाली गतिविधियों को प्राथमिकता दें. एक संपूर्ण जीवन बनाने से भावनात्मक पूर्ति के लिए सिर्फ सेक्स पर निर्भरता कम हो जाती है.

प्रोफेशनल की मदद लें: अगर आप भावनात्मक परेशानियों को दूर करने या हेल्दी रिश्ते बनाने में अकेले संघर्ष कर रहे हैं, तो एक थेरेपिस्ट आपको हेल्दी मैकेनिज्म अपनाने में मदद कर सकता है.

सेक्स जिंदगी का एक खूबसूरत हिस्सा है, लेकिन ये सुख और जुड़ाव का इकलौता जरिया नहीं होना चाहिए. आत्म-जागरूकता और हेल्दी मुकाबला करने के हुनर विकसित करके, आप सेक्स के साथ एक संपूर्ण और संतुलित रिश्ता बना सकते हैं.