menu-icon
India Daily
share--v1

क्या दूध पीने से बनती है मजबूत हड्डी? जवाब सुन खिसक जाएगी पैरों तले जमीन

Is drinking milk make bones stronger: दूध पीने से मजबूत हड्डियां बनती हैं, यह तो हम सालों से सुनते आ रहे हैं. लेकिन क्या हो अगर हम आपको बता दें कि यह पूरी तरह सच नहीं हो सकता है? हालांकि दूध में कैल्शियम होता है, जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है, लेकिन कुछ अन्य कारक और खाद्य पदार्थ भी उतने ही महत्वपूर्ण हो सकते हैं.

auth-image
India Daily Live
Drinking Milk
Courtesy: Freepik

Is drinking milk make bones stronger: सालों से, हमें बताया जाता रहा है कि दूध पीना मजबूत हड्डियों के लिए जरूरी है. लेकिन, क्या हो अगर हम आपको बताएं कि यह पूरी तरह सच नहीं हो सकता है? भले ही दूध में कैल्शियम होता है, जो हड्डियों की हेल्थ के लिए बेहद जरूरी है, लेकिन कुछ और भी चीजें और कारक हैं जो इसमें अहम भूमिका निभा सकते हैं.

क्यों है लोगों में दूध से हड्डी मजबूत करने की धारणा

प्रोफेशनल हेल्थ डाइटिशियन, न्यूट्रीनिस्ट और कंटेंट क्रिएटर डॉ सुजी शुल्मन का कहना है कि सिर्फ हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए दूध पीना "शायद सबसे अच्छा विचार न हो." उनका मानना है कि “दूध स्वभाव से एसिडिक होता है, इसलिए जब हम इसका सेवन करते हैं तो शरीर को फिर से अपने पीएच को संतुलित करना पड़ता है और शरीर इसे हड्डियों से कैल्शियम निकालकर करता है, जो बेस नेचर का होता है, ताकि यह संतुलन वापस सामान्य हो सके."

विशेषज्ञों का कहना है, "यह पारंपरिक धारणा कि दूध का सेवन हड्डियों को मजबूत करता है, मुख्य रूप से दूध में मौजूद हाई कैल्शियम की वजह से उपजा है, जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है. हालांकि, पिछले कुछ समय में हुए रिसर्च ने इस धारणा पर सवाल उठाया है. ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित रिसर्च से पता चलता है कि अधिक दूध का सेवन फ्रैक्चर के कम जोखिम से जुड़ा नहीं हो सकता है और यहां तक कि महिलाओं में उच्च मृत्यु दर से भी जुड़ा हो सकता है. 

तो इस वजह से दूध पर उठ रहे सवाल?

यह विरोधाभासी कनक्लूजन दूध में पाए जाने वाली डी-गैलेक्टोज की उपस्थिति के कारण हो सकता है, जो एक प्रकार की चीनी है, जिसे उच्च मात्रा में ऑक्सीडेटिव तनाव और सूजन को बढ़ावा देने के लिए दिखाया गया है, जो संभावित रूप से कैल्शियम के लाभों को कम कर देता है."

इसके अलावा, रिसर्च में कहा गया है कि जर्नल ऑफ बोन एंड मिनरल रिसर्च में एक स्टडी हुई जिसने यह निष्कर्ष निकाला है जबकि कैल्शियम हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है, कैल्शियम का स्रोत - चाहे डेयरी से हो या गैर-डेयरी से - हड्डियों की डेंसिटी को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित नहीं करता है.

हड्डियों को मजबूत करने के लिए दूध के सिवा क्या हैं ऑप्शन?

"हड्डियों के स्वास्थ्य को प्रभावी ढंग से बनाए रखने वाले कई गैर-डेयरी आहार स्रोत और जीवनशैली कारक हैं. कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थों में केल और ब्रोकोली जैसी हरी पत्तेदार सब्जियां, बादाम और चिया सीड्स जैसे नट और बीज, और बीन्स और दाल जैसी फलियां शामिल हैं." विशेषज्ञ बताते हैं.

"फोर्टिफाइड प्लांट-बेस्ड दूध और जूस भी पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम प्रदान करते हैं. इसके अतिरिक्त, विटामिन डी कैल्शियम के अवशोषण और हड्डियों के स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जिसे सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने, फैटी मछली और फोर्टिफाइड खाद्य पदार्थों से प्राप्त किया जा सकता है."

वे कहते हैं, "साबुत अनाज, मेवा और हरी पत्तेदार सब्जियों में पाया जाने वाला मैग्नीशियम और हरी सब्जियों जैसे पालक और केल में मौजूद विटामिन K भी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं. नियमित वजन बढ़ाने वाले व्यायाम, जैसे चलना, जॉगिंग और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग, हड्डियों के निर्माण को उत्तेजित करके और ऑस्टियोपोरोसिस के जोखिम को कम करके हड्डियों के घनत्व को बढ़ाते हैं."

तो याद रखें, सिर्फ दूध पीने पर ही भरोसा न करें. हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए संतुलित आहार, जिसमें कैल्शियम, विटामिन डी, मैग्नीशियम और विटामिन K पर्याप्त मात्रा में हों, व्यायाम और धूप जरूरी हैं.