menu-icon
India Daily
share--v1

गर्मी में अपने बेबी का ऐसे रखें ख्याल, वरना हो सकते हैं गंभीर बीमारी का शिकार

Summer Baby Tips: गर्मी के मौसम में छोटे बच्चों को भी पानी की कमी, हीट स्ट्रोक, डायरिया जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है. ऐसे में इन टिप्स की मदद से बच्चों का ख्याल रख सकते हैं.

auth-image
India Daily Live
Summer Baby Care Tips
Courtesy: Freepik

Summer Baby Care Tips: गर्मी के मौसम से सभी लोग बेहद परेशान हैं. गर्मी के कारण सभी उम्र के लोगों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं, भीषण गर्मी में छोटे बच्चों की देखभाल करना चुनौती का काम हो गया है. छोटे बच्चे गर्मी के मौसम में बीमारी के आसानी से शिकार बन जाते हैं. इस मौसम में छोटे बच्चों को भी पानी की कमी, हीट स्ट्रोक, डायरिया जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है. 

ऐसे में माता-पिता को छोटे बच्चे का खास ख्याल रखना बेहद जरूरी हो जाता है. आइए जानते हैं गर्मी के मौसम में छोटे बच्चों का कैसे ख्याल रखा जा सकता है.

पानी का रखें ख्याल

अपने छोटे बच्चों को समय-समय पर पानी पिलाएं. आमतौर पर जब छोटे बच्चे को प्यास लगती है तो उनका मुंह सुख जाता है और डायपर कम गीला होता है. इसके अलावा आलस आना और शरीर गर्म होना जैसे लक्षण नजर आ सकते हैं. अगर आपको ऐसे लक्षण नजर आए तो उन्हें पानी जरूर पिलाएं

मच्छरों से रखे दूर

गर्मी में मच्छरों का खतरा बढ़ जाता है. मच्छर से डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारी का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में छोटे बच्चों को भी मच्छरों से बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए घर से मच्छर भगाने के लिए दवा या स्प्रे का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके साथ अपने बच्चे को हल्के कपड़े ढक कर रखें.

धूप में बाहर न लेकर जाएं

अगर आप छोटे बच्चे को दोपहर में बाहर लेकर जाते हैं तो उन्हें कुछ बीमारी का खतरा हो सकता है. गर्म मौसम के वजह से पानी की कमी, हीट स्ट्रोक, डायरिया जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए नन्हें बेबी को दोपहर के समय बाहर लेकर न जाएं. अगर कभी लेकर जा रहे हैं तो छाता या टोपी जरूर कैरी करें.

सूती नैपी पहनाएं

गर्मी के मौसम में बच्चों की स्किन पर रैशेज होना बेहद आम हैं. अपने बेबी की स्किन को रैशेज फ्री रखने के लिए सूती नैपी पहनाए. इसके साथ जब आप नैपी बदलते हैं तो थोड़े समय के लिए बच्चों की त्वचा पर हवा लगने दे. इसके अलावा रैशेज से बचाने के लिए बेबी क्रीम या पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

डिस्क्लेमर: यह खबर इंटरनेट पर उपलब्ध सामान्य जानकारियों पर आधारित है. विस्तृत जानकारी के लिए किसी विशेषज्ञ चिकित्सक की सलाह जरूर लें.