share--v1

बोत्सवाना और जर्मनी में 'हाथी' पर ठनी रार, दिलचस्प है वजह

World News: बोत्सवाना और जर्मनी हाथियों के लिए लड़ रहे हैं. बोत्सवाना ने धमकी दी है कि वो जर्मनी में 20,000 हाथियों को भेज देगा. इससे पहले बोत्सवाना ने 10,000 हाथियों को लंदन भेजने की भी धमकी दी थी.

auth-image
India Daily Live

World News: बोत्सवाना और जर्मनी के बीच हाथियों के लिए ठन गई है. बोत्सवाना के राष्ट्रपति मोकग्वेत्सी मासी ने जर्मनी में लगभग 20,000 हाथियों को भेजने की धमकी दी है. आप सोच रहे होंगे की मामला क्या है? दरअसल इस साल की शुरुआत में जर्मनी के पर्यावरण मंत्रालय ने सुझाव दिया था कि शिकार करने वाले जानवरों से बने उपहार आयात करने पर देश में पाबंदी लगनी चाहिए. बोत्सवाना के राष्ट्रपति मोकग्वेत्सी मासी ने जर्मनी के अखबार बिल्ड से कहा कि यह केवल बोत्सवानावासियों को गरीब बनाएगा. मासी ने कहा है कि इससे उनके देश में लोग और ज्यादा गरीब हो जाएंगे. 

उन्होंने दावा किया कि बोत्सवाना में हाथियों की संख्या में रिकॉर्ड वृद्धि हुई है और शिकार ने उन्हें नियंत्रण में रखने में मदद की है. बोत्सवाना में बड़ी संख्या में पर्यटक हाथियों के शिकार के लिए जाते हैं. इसके लिए वे बोत्सवाना की सरकार को भारी भरकम धनराशि देते हैं. बदले में उन्हें शिकार किए गए हाथी की खाल, दांत और बाकी चीजों को अपने देश ले जाने की अनुमति मिलती है. बोत्सवाना के राष्ट्रपति ने यह भी बताया कि कैसे इन हाथियों ने संपत्ति को नुकसान पहुंचाकर, फसलों को खाकर और लोगों को रौंदकर उनके देश में कहर बरपाया है.

'हमें सलाह ने दें'

मासी ने कहा कि बर्लिन में बैठकर हमारे मामलों के बारे में राय रखना बहुत आसान है. हम दुनिया भर के लिए इन जानवरों को संरक्षित करने की कीमत चुका रहे हैं. उन्होंने कहा कि जर्मनों को हाथियों के साथ मिलकर रहना चाहिए, जिस तरह से आप हमें बताने की कोशिश कर रहे हैं. 

हाथियों का घर है बोत्सवाना

बोत्सवाना दुनिया की लगभग एक तिहाई हाथियों की आबादी का घर है. यहां 130,000 से अधिक हाथी रहते हैं. इस देश में रहने की जगह की तुलना में हाथियों की संख्या अधिक है. दक्षिणी अफ्रीकी देश बोत्सावाना ने 2014 में हाथियों के ट्रॉफी शिकार पर प्रतिबंध लगा दिया था, लेकिन स्थानीय समुदायों के दबाव में 2019 में प्रतिबंध हटा दिया. बोतस्वाना दुनिया भर के देशों में हाथी भेजता रहता है. पिछले महीने बोत्सवाना ने 10,000 हाथियों को लंदन भेजने की भी धमकी दी थी.