menu-icon
India Daily
share--v1

33 साल बाद जिंदा लौटा 'मरा' बेटा, घरवाले भी कांप गए, फिर सामने आया ये 'कांड'

पूर्वी चीन के अनुहई प्रांत के गांव में पले बढ़े 33 साल के झांग हुआइयुआने के पैर के नीचे से जमीन तब खिसक गई जब उसको पता चला कि वह जिसके साथ रह रहा है वे उसके असली माता पिता नहीं है. उसके बाद झांग ने पुलिस की मदद से अपने असली माता पिता का पता लगाया. करीब तीन दशक बाद झांग अपने परिवार के पास पहुंचा है. वहीं परिवार ने बताया कि कैसे डाक्टरों ने डिलीवरी के समय गड़बड़ियां की थीं.

auth-image
India Daily Live
china
Courtesy: social media

अक्सर आपने फिल्मों में देखा होगा कि कैसे कोई बच्चा जन्म के बाद या अस्पताल में हुए हेराफेरी के कारण अपने मां-बाप से बिछड़ जाता है और फिर सालों बाद उसे अपने असली माता पिता मिल जाते हैं. हालांकि असली जीवन में इस तरह की कोई घटना घटे तो इसमें ऐसा कोई चमत्कार बहुत कम या ना के बराबर होता है. ऐसी ही एक खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. जिसमें 33 साल पहले मृत घोषित किया गया बच्चा तीन दशक बाद अपने असली मां-बाप से मिलता है. 

पूर्वी चीन के अनुहई प्रांत के एक गांव में पले-बढ़े 33 साल के झांग हुआइयुआने को एक दिन पता चला कि वो जिसे मां-बाप समझ रहा है, उससे उसका कुछ नाता ही नहीं है. उसे पता चला कि एक दंपति ने उसे गोद लिया है. वे उसके असली माता पिता नहीं हैं. उनके माता पिता तो दक्षिणीपूर्वी चीन के झेजियांग प्रांत में रहते हैं.

33 साल बाद असली मां बाप से मिले झांग 

दरअसल प्रीमैच्योर पैदा होने के कारण डाक्टरों ने झांग के माता पिता को बोल दिया था कि उनके बेटे की मौत हो गई. जबकि ऐसा हुआ ही नहीं था. झांग को अस्पताल के डायरेक्टर की एक रिश्तेदार को सौंप दिया गया था, जो कभी पेरेंट्स नहीं बन सकते थे. साउथ चाइना मार्निंग पोस्ट के मुताबिक झांग झेजियांग प्रांत से लगभग 400 किलोमीटर दूर रह रहे थे जहां उनके अपने माता पिता रहते हैं.

बता दें कि जिस कपल ने झांग को गोद लिया था उनकी उम्र 50 साल की थी, झांग को गोद लेने वाले पिता विकलांग थे, इसलिए झांग को बचपन से गरीबी में जीना पड़ा. इसके लिए उन्होंने 17 साल की उम्र में ही छोड़ दी थी. हालांकि इस दौरान पालने वाले पिता की मौत हो गई जिसके बाद उन्हें गोद वाली महिला ने बताया कि उनको गोद लिया गया था. वे उनके असली माता पिता नहीं हैं. जिसे सुन झांग काफी परेशान हो गए और फिर पुलिस की मदद से बीते साल मई महीने में अपने असली माता पिता से मिले. झांग के असली पिता काफी धनी आदमी है और अब वह इनके साथ अच्छी जिंदगी जी रहा है. 

छठे महीने में पैदा हो गए थे झांग

झांग के पिता बताते है कि जब झांग पैदा होने वाला था तब पहला बच्चा एक साल का था. वो सीजेरियन के जरिए हुआ था. गर्भावस्था के दौरान छठे महीने में पत्नी के टांके खुल गए. बच्चा प्रीमैच्योर में ही पैदा हो गया. तभी डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था. वहीं झांग अभी अपने असली पिता का बिजनेस संभालते हैं. झांग शादीशुदा हैं और उनका एक 9 साल का बेटा भी है.

झांग के पिता बताते हैं कि मेरे बेटे ने जीवन में 30 साल से ज्यादा समय बिना जन्मदिन जाने बिताया. इस साल उसका जन्मदिन धूमधाम से मनाएंगे. वहीं सोशल मीडिया पर लोग इस परिवार को लेकर खूब चर्चा है.