menu-icon
India Daily
share--v1

साउथ कोरिया की नार्थ कोरिया को धमकी, बोला- खत्म कर देंगे किम जोंग उन का शासन

South Korea-North Korea: दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया को चेतावनी देते हुए कहा है कि किसी भी परमाणु हमले का मतलब किम जोंग उन के शासन का खात्मा होना.

auth-image
Gyanendra Tiwari
साउथ कोरिया की नार्थ कोरिया को धमकी, बोला- खत्म कर देंगे किम जोंग उन का शासन

नई दिल्ली. South Korea-North Korea: नार्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बीच अनबन की ख़बरें आती रहती हैं. आए दिन उत्तर कोरिया कोई ना कोई कदम उठाता रहता है, जिससे दक्षिण कोरिया परेशान रहता है. दोनों के बीच जुबानी जंग होती रहती है. अब दक्षिण कोरिया ने उत्तर कोरिया को चेतावनी देते हुए कहा है कि किसी भी परमाणु हमले का मतलब किम जोंग उन के शासन का खात्मा होना.

यह भी पढ़ें- इस मुस्लिम देश में बैंको को लूट रहे लोग, खाने-पीने तक के लिए नहीं हैं लोगों के पास पैसे!

अमेरिका की परमाणु पनडुब्बी

हाल ही में अमेरिका ने 40 वर्षों के बाद कोरियाई प्रायद्वीप में पहली बार परमाणु पनडुब्बी तैनात की थी. इसके बाद से ही उत्तर कोरिया बौखलाहट में है. योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक नार्थ कोरियो के रक्षा मंत्री कांग सुन-नाम ने कहा था कि साउथ कोरिया (South Korea)  में 18,750 टन की ओहियो कैटेगरी की नॉर्थ कोरिया बैलिस्टिक मिसाइल पनडुब्बी की तैनाती उनके परमाणु हथियारों (Nuclear Weapons) के इस्तेमाल की शर्तों को पूरा कर सकता है.

साउथ कोरिया की चेतावनी

नार्थ कोरिया के परमाणु पनडुब्बी की आलोचना के बाद साउथ कोरिया की ओर से नार्थ कोरिया को चेतावनी दी गई है, जिसमें कहा गया है कि साउथ कोरिया-अमेरिका गठबंधन के खिलाफ किसी भी नॉर्थ कोरियाई परमाणु हमले की स्थिति में किंम जोंग उन के शासन का खत्म कर दिया जाएगा. इस धमकी के बाद लाजिम है कि उत्तर कोरिया कोई ना कोई पलटवार जरूर देगा.

दागी गई क्रूज मिसाइलें

ख़बर है कि शनिवार सुबह उत्तर कोरिया ने 2 क्रूज मिसाइलें दागी हैं. दक्षिण कोरिया की सेना ने कहा कि सुबह 4 बजे के आसपास दो क्रूज मिसाइलें पश्चिमी समुद्र की ओर दागी गईं. इससे पहले 13 जुलाई और 19 जुलाई की सुबह उत्तर कोरिया ने मिसाइल प्रक्षेपण किया था. उत्तर कोरिना ने अमेरिका के एक नागरिक को भी उसकी सीमा के भीतर घुसने पर गिरफ्तार कर रखा है. इस मामले में उसकी ओर से अभी कुछ कहा नहीं गया है. 

यह भी पढ़ें- हांगकांग में स्मोकिंग पर पुलिस नहीं जनता लेगी एक्शन जानिए कैसे?