menu-icon
India Daily
share--v1

हज यात्रा से पहले ही मक्का से बाहर किए गए लाखों लोग,  जानें क्यों लिया सऊदी सरकार ने यह फैसला? 

Saudi Arab News: सऊदी सरकार ने हज यात्रा शुरु होने से पहले ही कड़ा फैसला किया है. सऊदी सरकार ने भीड़ का प्रबंधन करने के लिए कड़े नियम लागू किए हैं साथ ही कई गिरफ्तारियां भी की हैं.

auth-image
India Daily Live
Saudi Arab Hajj
Courtesy: Social Media

Saudi Arab News: सऊदी अरब ने हज यात्रा की शुरुआत से पहले ही कड़ा फैसला ले लिया है. सऊदी ने मक्का से तीन लाख लोगों को निकाल दिया है. निकाले गए लोगों के पास हज के लिए जरूरी रजिस्ट्रेशन नहीं था. शनिवार को सऊदी अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों ने मक्का शहर से अनधिकृत तीर्थयात्रियों को शहर से हटाने के लिए एक ऑपरेशन चलाया है. सऊदी प्रशासन का कहना है कि हज यात्रा के दौरान भीड़ का प्रबंधन करना एक कठिन चुनौती है. पिछले साल हज यात्रा पर 18 लाख तीर्थयात्री आए थे. 

सऊदी प्रेस एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, बीते कई दिनों में ग्रैंड मस्जिद और काबा से लाखों की संख्या में विदेशी लोगों को निकाला गया है. एजेंसी ने बताया कि इन लोगों के पास हज वीजा नहीं था, बल्कि ये पर्यटक वीजा पर आए हुए थे. सऊदी प्रशासन ने इसके अलावा कई लोगों को हिरासत में भी लिया है. प्रशासन ने बताया कि ये लोग सऊदी अरब में रहते तो हैं लेकिन मक्का के निवासी नहीं हैं. प्रशासन ने  ऐसे लोगों की संख्या 1,71,587 बताई है. यह लोग बिना हज परमिट के मक्का में ठहरे हुए थे. 

फैसले की क्या है वजह? 

सऊदी अरब में इस साल हज यात्रा 14 जून से आरंभ हो रही है. इस्लाम धर्म के अनुसार, साधन संपन्न लोगों का हज पर जाना प्रमुख फर्ज है. मक्का और उसके आस-पास के इलाकों में हज के लिए लोग अवैध चैनलों के माध्यम से वहां पहुंच जाते हैं. इसका कारण प्रत्येक देश के तीर्थयात्रियों के लिए सीमित कोटा होना है. सीमित कोटा होने के कारण परमिट और यात्रा पैकेज लेना भी बेहद मुश्किल और महँगा हो जाता है. ऐसे में बगैर रजिस्ट्रेशन के आए लोगों से भीड़ बढ़ जाती है और उसका प्रबंधन मुश्किल हो जाता है. ऐसी स्थिति में कई बार हादसों की स्थिति बन जाती है. साल 2015 में मीना में हज यात्रा के दौरान शैतान को पत्थर मारने की परंपरा में भगदड़ मच गई थी. इस भगदड़ में 2300 लोगों की मौत हो गई थी. 

कड़ाई से लागू हो रहे नियम 

मक्का प्रशासन ने बताया कि शनिवार तक शहर में 13 लाख से ज्यादा पंजीकृत लोग सऊदी अरब पहुंच चुके थे. यह संख्या आने वाले दिनों में 20 लाख के आंकड़े तक पहुंच सकती है. हज यात्रा में भीड़ को देखते हुए प्रशासन कड़ी सख्ती बरत रहा है. सऊदी सरकार इसी लिए कड़ाई से नियम लागू कर रही है. सऊदी सरकार ने ऑफिशियल परमिट के बिना हज यात्रा को नाजायज करार दिया है.