share--v1

India Canada Ties: 'बोलने की आजादी का अर्थ अलगाववाद नहीं, कूटनीति के लिए अभी भी जगह', भारत कनाडा विवाद पर बोले जयशंकर

India Canada Ties: भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शनिवार को कनाडा को सख्त संदेश दिया है. हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट के दौरान उन्होंने कहा कि बोलने की आजादी का अर्थ यह बिल्कुल नहीं होता है कि हिंसा को बढ़ावा दिया जाए.

auth-image
Shubhank Agnihotri

India Canada Ties: भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शनिवार को कनाडा को सख्त संदेश दिया है. हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट के दौरान उन्होंने कहा कि बोलने की आजादी का अर्थ यह बिल्कुल नहीं होता है कि हिंसा को बढ़ावा दिया जाए. उन्होंने कनाडा को चेताते हुए कहा कि धमकी ओर अलगाववाद को बढ़ावा देने वालों को यह सोचना चाहिए कि ऐसा ही यदि उनके साथ हो तो उन्हें कैसा लगेगा.


 सामान्य हो सकते हैं रिश्ते


खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर खराब हुए कनाडा और भारत के संबंधों को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि दोनों देशों के मध्य रिश्ते सामान्य हो सकते हैं. यह बात कनाडा के विदेश मंत्री ने भी कही है, इसी वजह से हम लगातार संपर्क में बने हुए हैं. विदेश मंत्री ने कहा कि हमें उम्मीद है कि हम इसको लेकर एक रास्ता खोज लेंगे. जयशंकर ने कहा कि भारत सहित दुनिया में कई ऐसे देश हैं जहां भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की आजादी है. मगर यह स्वतंत्रता अलगाववाद, उग्रवाद, का लाइसेंस नहीं हो सकता है.

मेरे पास हर देश के लिए टेस्ट 


जयशंकर ने कहा कि मेरे पास दुनिया के हर देश के लिए एक सिंपल स टेस्ट है. यदि आपको लगता है कि यह सही है तो आप चाहेंगे कि आपके साथ भी वैसा ही किया जाए. मुझे इसका जवाब ज्यादातर न में मिलता है. कनाडा के साथ रिश्तों को लेकर कहा कि दोनों पक्षों के बीच बातचीत चल रही है. उन्होंने कहा कि कनाडा में हाल ही में हुई कुछ घटनाओं ने दोनों देशों के संबंधों में निश्चित मोड़ ले लिया है.

निज्जर की हत्या के बाद संबंधों में तनाव

10 जून 2023 को भारत के वांटेड आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की ब्रिटिश कोलंबिया के सरे गुरु नानक गुरुद्वारे की पार्किंग में गोली मारकर हत्या कर दी गई . भारत और कनाडा के संबंधों में खटास तब आ गई जब कनाडा सरकार ने निज्जर की हत्या में भारत का हाथ होने का आरोप लगाते हुए उसके एक राजनयिक को देश से निष्काषित कर दिया था. भारत ने कनाडा के आरोपों में संलिप्तता से इंकार करते हुए उसके सभी आरोपों का खंड़न किया और बदले में जवाबी कार्रवाई करते हुए कनाडा के एक वरिष्ठ राजनयिक को भी निष्काषित कर दिया था.

 

 

 

यह भी पढ़ेंः Israel Hamas War: विदेशी नागरिक नहीं छोड़ सकेंगे गाजा, हमास ने लगाई नागरिकों की निकासी पर रोक

First Published : 05 November 2023, 09:08 AM IST