menu-icon
India Daily
share--v1

'विकसित भारत हमारा संकल्प', G-7 Summit में क्या-क्या बोले PM मोदी

PM Modi In G-7 Summit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी 7 देशों के शिखर सम्मेलन के आउटरीच सेशन में भाग लिया. इस दौरान उन्होंने विश्व के सामने मौजूद प्रमुख चुनौतियों के बारे में चर्चा की. इस दौरान पीएम मोदी ने भारत में हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनावों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि भारत के चुनाव लोकतंत्र का बड़ा पर्व है. पीएम मोदी मेजबान देश इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी के बुलावे पर इटली पहुंचे हैं.

auth-image
India Daily Live
Pm Modi
Courtesy: Social Media

PM Modi In G-7 Summit: पीएम मोदी नरेंद्र मोदी जी 7 देशों के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए इटली के दौरे पर हैं. वे वहां मेजबान देश इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी के नियंत्रण पर वहां पहुंचे हैं. तीसरी बार भारत का प्रधानमंत्री बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यह पहली विदेश यात्रा है. इस दौरान उन्होंने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, उर्जा, अफ्रीका और भूमध्यसागरीय क्षेत्रों पर बात करने वाले एक सेशन में हिस्सा भी लिया. पीएम ने इस सेशन में कहा कि हमें तकनीक को क्रिएटिव बनाना होगा. यह तकनीक विघटनकारी नहीं होनी चाहिए. ऐसा होने पर ही हम समावेशी समाज की नींव रखने में सक्षम हो सकेंगे.

पीएम मोदी ने जी 7 देशों की बैठक में एक्स पर जानकारी भी साझा की है. उन्होंने एक्स पर लिखा कि जी 7 देशों के आउटरीच सेशन में उर्जा, अफ्रीका, एआई और भूमध्य सागर को लेकर वार्ता की. उन्होंने लिखा इस दौरान कई विषयों पर बात की. खास तौर पर मानवीय प्रगति और तकनीक का उपयोग मानवीय भलाई के रुप में इस्तेमाल होने की बात कही गई है. 

 

भारत का चुनाव लोकतंत्र का पर्व 

पीएम मोदी ने इस अवसर पर कहा कि भारत दुनिया के उन चंद देशों के समूह में शामिल है जो एआई को लेकर राष्ट्रीय रणनीति तैयार की है. पीएम ने इस दौरान देश में हुए लोकसभा चुनाव का भी जिक्र किया. पीएम मोदी ने कहा कि भारत का चुनाव लोकतंत्र का पर्व है. जनता ने मुझे तीसरी बार सेवा का मौका दिया है. छह दशकों में पहली बार हुआ है जब भारत की जनता ने लगातार तीसरी बार किसी को जनादेश दिया है. उन्होंने कहा कि विकसित भारत का निर्माण ही हमारा प्रमुख संकल्प है. इस दौरान उन्होंने ग्लोबल साउथ के बारे में भी बात की. पीएम ने कहा कि जी 7 देशों के साथ संवाद और सहयोग की कोशिश लगातार जारी रहेगी. 

हरित युग के लिए काम कर रहा भारत 

जी 7 समिट के अपने संबोधन में पीएम मोदी ने उर्जा के सवाल पर कहा कि भारत का दृष्टिकोण पहुंच, उपलब्धता, सामर्थ्य और स्वीकार्यता पर आधारित है. उन्होंने कहा कि हम निर्धारित समय से पहले ही कॉप की प्रतिबद्धताओं को पूरा करने का काम कर रहे हैं. भारत लाइफ मिशन के सिद्धांतों पर आधारित हरित युग की शुरुआत रे लिए जी-जान से काम कर रहा है.