share--v1

Philippine Landslide: कुदरत का कहर; भूस्खलन से मरने वालों की संख्या हुई 37, अभी 60 से ज्यादा लापता

Philippine Landslide: फिलीपींस के दक्षिणी हिस्से में कुदरत ने ऐसा कहर बरपाया है कि लोगों को संभलने का मौका तक नहीं दिया. दावाओ डी ओरो प्रांत के अधिकारियों ने कहा है कि अभी भी 63 लोग लापता हैं.

auth-image
India Daily Live
फॉलो करें:

Philippine Landslide: फिलीपींस के दक्षिणी हिस्से में कुदरत ने अपना कहर बरपाया है. यहां भूस्खलन के कारण 37 लोगों की मौत हो गई है. इलाके में रेस्क्यू के लिए लगाए गए राहत कर्मी अभी भी मलबे और कीचड़ में फंसे लोगों को निकालने में जुटे हैं. स्थानीय अधिकारियों की ओर से कहा गया है कि अभी भी काफी लोग लापता है, जिनके जिंदा बचने की उम्मीद काफी कम है. 

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, ये घटना दक्षिणी फिलीपींस के दावाओ डी ओरो प्रांत के मैको शहर में एक सोने की खदान के बाहर हुई है. ये हादसे करीब तीन दिन पहले का है. पूर्व में यहां भूस्खलन के कारण मरने वालों की संख्या स्पष्ट नहीं थी.

जैसे-जैसे राहत और बचाव दल का रेस्क्यू ऑपरेशन आगे बढ़ा, वैसे-वैसे मरने वालों की संख्या भी बढ़ती चली गई है. अधिकारियों की ओर से कहा गया है कि अब मरने वालों की संख्या 37 हो गई है. भूस्खलन के कारण एपेक्स माइनिंग ( एपीएक्स.पीएस) की ओर से संचालित साइट पर कर्मचारियों के घर और कई वाहन भी दब गए हैं. 

63 लोग अभी भी लापता, जारी है तलाशी अभियान

आज यानी रविवार को यहां से कई शव बरामद हुए हैं. दावाओ डी ओरो प्रांत के एक अधिकारी एडवर्ड मैकापिली ने कहा कि भूस्खलन से 37 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि लापता लोगों की संख्या 77 से घटाकर 63 कर दी गई. 32 लोग घायल हैं. हालांकि अधिकारियों ने इस घटना के पीछे का सही कारण अभी खुलकर नहीं बताया है. 

मैकापिली ने कहा कि बचाव कार्य में 300 से ज्यादा लोग शामिल हैं, लेकिन भारी बारिश, चारों ओर फैली कीचड़ और फिर से भूस्खलन के खतरे के कारण बचाव अभियान में बाधा आ रही है. मैकापिली ने कहा रविवार सुबह फिर से राहत कार्य शुरू किया गया है. 

लोगों के जिंदा रहने की संभावना काफी कम

लोगों के जिंदा रहने की संभावना के बारे में पूछने पर मैकापिली ने कहा कि इसकी काफी कम संभावना है, लेकिन तलाश अभियान जारी है. मैकापिली ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को बताया है कि बचाव दल अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहा है, भले ही यह कितना भी मुश्किल क्यों न हो. उन्होंने कहा कि हाल के सप्ताहों में मूसलाधार बारिश ने दावाओ डी ओरो को तबाह कर दिया है. 

Also Read

First Published : 11 February 2024, 06:06 PM IST