share--v1

पाक से क्यों नाराज हैं एलन मस्क? आठ दिनों से नहीं चल रहा मुल्क में 'X'

Pakistan News: सिंध हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी पाकिस्तानी आवाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल नहीं कर पा रही है.

auth-image
India Daily Live

Pakistan News: पाकिस्तान में बीते आठ दिनों से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स लगातार ब्लैकआउट का सामना कर रहा है. जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में लोग एक्स की सेवाओं का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं. पाकिस्तानी आवाम बीते शनिवार से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स का इस्तेमाल नहीं कर पा रही है. लंबे समय से एक्स की सेवाओं में आ रही परेशानी को लेकर आधिकारिक तौर पर कोई बयान सामने नहीं आया है. 

पीटीए की पॉलिसी भी जिम्मेदार 

वैश्विक इंटरनेट निगरानी संगठन नेटब्लॉक्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि पाकिस्तान में वीपीएन सर्विसेज के इस्तेमाल में भी दिक्कतें देखी जा रही हैं. वीपीएन सेवाओं में आ रही परेशानियों के कारण भी लोग माइक्रोब्लॉगिंग साइट का एक्सेस नहीं कर पा रहे हैं. इसके लिए पीटीए यानी पाकिस्तान टेलिकम्यूनिकेशन अथॉरिटी की पॉलिसी भी जिम्मेदार हैं. 

मौलिक अधिकारों का उल्लंघन

वेबसाइट ट्रैकर डाउनडिटेक्टर डॉट कॉम ने जियो टीवी के हवाले से बताया कि एक्स सेवाओं पर लगातार ब्लैकआउट का बना रहना पाकिस्तान की छवि को नुकसान पहुंचा रहा है. डिजिटल राइट्स फाउंडेशन ( DRF) की कार्यकारी निदेशक निघत दाद ने कहा कि पाक सरकार की नीतियां भी इसको लेकर स्पष्ट नहीं हैं. उन्होंने कहा कि हो सकता है कि पाक सरकार ने चुनाव को देखते हुए एक्स पर फेक जानकारी के प्रसारण की वजह से यह निर्णय लिया हो. देखा जाए तो यह निर्णय ठीक नजर नहीं आता क्योंकि चुनाव या तनाव के समय लोगों को अपनी बात कहने का अवसर मिलना चाहिए. यह उनके प्रमुख मौलिक अधिकारों में से एक हैं. 

देश की आर्थिक स्थिति को होगा नुकसान

निघत दाद ने कहा कि पाकिस्तान में एक्स सेवाओं का लंबे समय तक बैन रहना देश की आर्थिक स्थिति के लिए भी ठीक नहीं है. यह देश की आर्थिक सेहत के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है. इस तरह के कदम वैश्विक कंपनियों को मुल्क में निवेश करने से भी रोकेगा. यह नई सरकार के लिए भी मुश्किल होगा कि वह इस तरह की समस्याओं से जूझते हुए कार्यभार संभाले.

सिंध हाई कोर्ट ने सुनाया था निर्णय 

पाकिस्तान पहले से ही इंटरनेट ब्लैकआउट और बैन के कारण दुनिया के निचले देशों में से एक है. यहां का प्रशासन कथित तौर पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लोगों की पहुंच को सीमित करने के प्रयास करता रहा है. पाकिस्तान में हाल ही में संपन्न हुए चुनावों में आवाम ने इंटरनेट पर बैन और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पाबंदी के आरोप लगाए थे. सिंध हाई कोर्ट ने 22 फरवरी को एक्स सेवाओं को बहाल करने का निर्णय सुनाया था. 

Also Read