menu-icon
India Daily
share--v1

PoK में पाकिस्तान तैनात कर रहा 'फ्रंटियर कांस्टेबुलरी,' अचानक शहबाज सरकार को क्यों सता रहा डर?

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हालात खराब हैं. सरकार के खिलाफ लोगों में गुस्सा है. पीओके में पिछले महीने व्यापक पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे, जिसमें कई लोगों की मौत हुई. शहबाज सरकार को POK खोने का डर सताने लगा है, तभी वहां फ्रंटियर कांस्टेबुलरी को तैनात कर दिया गया है.

auth-image
India Daily Live
frontier constabulary
Courtesy: Social Media

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में लंबे समय से सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं. हालात ऐसे बने हुए हैं कि सेना भी कंट्रोल नहीं कर पा रही है. अब सरकार ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में अर्धसैनिक बल ‘फ्रंटियर कांस्टेबुलरी’ की तैनाती को रविवार को मंजूरी दे दी. पीओके में पिछले महीने व्यापक पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे, जिसमें कई लोगों की मौत हुई. फ्रंटियर कांस्टेबुलरी की तैनाती का यह फैसला, पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद के खिलाफ एक बड़ा अभियान शुरू करने की घोषणा के एक दिन बाद आया है.

जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक अर्धसैनिक बल ‘फ्रंटियर कांस्टेबुलरी’ की छह टुकड़ियां तीन महीने के लिए क्षेत्र में तैनात की जाएंगी. ये पुलिस की मदद के अलावा नीलम-झेलम, मंगला और गुलपुर पनबिजली परियोजनाओं के लिए पुख्ता सुरक्षा प्रदान करेंगी.  

महंगाई-बेरोजगारी से त्रस्त जनता

पाकिस्तान में महंगाई की मार झेल रही जनता सड़कों पर है. कीमतों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व जम्मू-कश्मीर संयुक्त अवामी एक्शन कमेटी (जेएएसी) ने किया था. इलाके के व्यापारियों ने भी इसमे अपनी भूमिका निभाई है. जियो न्यूज की रिपोर्ट में कहा गया कि यह घटनाक्रम विवादित क्षेत्र के ‘प्रधानमंत्री’ चौधरी अनवारुल हक और गृह मंत्री मोहसिन नकवी के बीच मुलाकात के बाद हुआ. बैठक के दौरान, दोनों नेताओं ने कानून व्यवस्था की स्थिति, मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य, साथ ही विवादित क्षेत्र के अगले वित्तीय वर्ष के बजट पर चर्चा की है. 

फ्रंटियर कॉन्स्टेबुल का क्या होता है काम? 

आपको बता दें कि पाकिस्तान फ्रंटियर कॉन्स्टेबुल एक अर्धसैनिक बल है जो पाकिस्तान की सेना के अंदर रहकर काम करता है. इसकी स्थापना 1903 में ब्रिटिश राज के दौरान हुई थी. इसके मुख्य कार्यों की बात करें तो यह देश के अशांत क्षेत्रों में आंतरिक सुरक्षा प्रदान करता है. फ्रंटियर कॉन्स्टेबुल आतंकवादी समूहों के खिलाफ लड़ाई में सेना का समर्थन करता है. दंगों और अन्य सार्वजनिक अव्यवस्थाओं को नियंत्रित करने में मदद करता है. ये सीमा की भी निगरानी करता है.