share--v1

किम जोंग उन की वजह से टेंशन में बाइडेन, नॉर्थ कोरियाई सैटेलाइट लगातार कर रहा व्हाइट हाउस, पेंटागन की जासूसी

नॉर्थ कोरियाई सैटेलाइट के जरिए अमेरिका की जासूसी की जा रही है. हाल ही में नॉर्थ कोरिया के सैटेलाइट ने व्हाइट हाउस, पेंटागन और आसपास के अमेरिकी नौसैनिक स्टेशनों की तस्वीरें ली हैं.

auth-image

North Korea spy satellite surveilling White House: उत्तर कोरिया ने दावा किया कि उसका पहला जासूसी उपग्रह अंतरिक्ष में स्थापित किया गया है, जिसे पिछले सप्ताह ऑरबिट में लॉन्च किया गया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, नॉर्थ कोरियाई सैटेलाइट के जरिए अमेरिका की जासूसी की जा रही है. हाल ही में नॉर्थ कोरिया के सैटेलाइट ने व्हाइट हाउस, पेंटागन और आसपास के अमेरिकी नौसैनिक स्टेशनों की तस्वीरें ली हैं.

नॉर्थ कोरिया की ओर से दावा किया जा रहा है कि उत्तर कोरिया ने 21 नवंबर को लॉन्च की गई सैटेलाइट का यूज कर फोटोज क्लिक की है. राज्य के आधिकारिक मीडिया ने कहा कि किम जोंग उन ने रोम, गुआम में एंडरसन एयर फोर्स बेस, पर्ल हार्बर और अमेरिकी नौसेना के कार्ल विंसन विमान वाहक की नई तस्वीरें देखी हैं. हालांकि नॉर्थ कोरिया की ओर से उपग्रह से ली गई कोई तस्वीर सामने नहीं आई है.

साउथ कोरिया का सैटेलाइट हुआ था फेल

बता दें कि इस साल की शुरुआत में दक्षिण कोरिया ने एक सैटेलाइंट लॉन्च किया था, जो असफल रहा था. हालांकि नॉर्थ कोरिया की ओर से अपने सैटेलाइट ‘मलिगयोंग-1’ को सफलतापूर्वक लॉन्च करने का दावा किया गया. उधर, साउथ कोरिया की राजधानी सियोल की ओर से कहा गया है कि नॉर्थ कोरिया सैटेलाइट्स के जरिए अपनी परमाणु हमले की क्षमता को बढ़ा रहा है. 

नॉर्थ कोरिया के दावे पर अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद क्या बोला?

व्हाइट हाउस राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका स्वतंत्र रूप से उत्तर कोरियाई दावे की पुष्टि नहीं कर सकता है. प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका बैलिस्टिक मिसाइल टेक्नोलॉजी का यूज कर स्पेस व्हीकल लॉन्च की निंदा करता है और ये संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कई प्रस्तावों का उल्लंघन है. 

First Published : 29 November 2023, 01:08 AM IST