share--v1

जापान में निकाली गई कांवड़ यात्रा, अभिषेक के लिए बिहार से पहुंचा गंगाजल

श्रावण मास में शिव भक्त भगवान भोलेनाथ को खुश करने के लिए कांवड लेकर जाते हैं, जिसमें वे पवित्र स्थलों से गंगाजल लेकर शिवलिंग का अभिषेक करते हैं. भारत से हजारों किमी दूर जापान में भी कांवड यात्रा निकाली गई है.

auth-image
Manish Pandey

 

नई दिल्लीः श्रावण मास में शिव भक्त भगवान भोलेनाथ को खुश करने के लिए कांवड लेकर जाते हैं, जिसमें वे पवित्र स्थलों से गंगाजल लेकर शिवलिंग का अभिषेक करते हैं. भारत में यह यात्रा 4 जुलाई से की जा रही है. जबिक देश से बाहर भी कांवड़ यात्रा की जा रही है. दरअसल भारत से हजारों किमी दूर जापान में भी कांवड यात्रा निकाली गई है.


टोक्यो में निकाली गई यात्रा 
जापान में इस तरह का यह पहला मौका था जब इस तरह की यात्रा निकाली गई हो. बिहार फाउंडेशन ने इस कांवड़ यात्रा की जानकारी ट्वीट के जरिए दी. ट्वीट में कहा गया कि भारत से हजारों किमी दूर जापान की राजधानी टोक्यो में भगवान शिव की कांवड़ यात्रा शुरू हो गई है.

भारतीय राजदूत रहे मौजूद 
आपको बता दें कि इस यात्रा का आयोजन बिहार-झारखंड एसोसिएशन ऑफ जापान के द्वारा किया जा रहा है. इस यात्रा में भारत के राजदूत सीबी जॉर्ज ने चीफ गेस्ट के तौर पर हिस्सा लिया और इस यात्रा की शुरुआत की.

बिहार से आया गंगाजल 
महादेव का जल अभिषेक करने के लिए बिहार के सुल्तानगंज से गंगाजल लाया गया है. यह यात्रा श्री राधा कृष्ण मंदिर टोक्यो से शुरू होकर सीतामा शिव मंदिर तक जाएगी, यहीं महादेव का जलाभिषेक किया जाएगा. आपको बता दें कि जापान में दिसंबर 2022 तक रहने वाले भारतीयों की संख्या 43,886 है.


यह भी पढ़ेंः 22 दिन से गायब हैं चीन के विदेश मंत्री, नहीं मिल रहा है कोई सुराग