menu-icon
India Daily
share--v1

गाजा में नहीं रुक रहे इजरायली सितम, मदद की आस में सैकड़ों दफन

Israel Hamas War: इजरायली सेना ने गुरुवार को मदद का इंतजार कर रही फिलिस्तीनी जनता पर अंधाधुंध गोलियां बरसी दीं. इजरायली सेना की कार्रवाई पर हमास ने गंभीर आपत्ति दर्ज कराई है.

auth-image
India Daily Live
Gaza

Israel Hamas War: महीनों से जारी इजरायल और हमास के बीच जंग रुकने का नाम ही नहीं ले रही. जंग में हर दिन बेकसूर लोग अपनी जान गंवा रहे हैं. गुरुवार को गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि मदद का इंतजार कर सैकड़ों लोगों की इजरायली फायरिंग में मौत हो गई.  रिपोर्ट के अनुसार, भूखे-प्यासे लोग कई दिनों से गाजा शहर के नबुलसी चौराहे पर सहायता ट्रकों का इंतजार कर रहे थे. इसी दौरान हुई इजरायली बमबारी में 104 लोगों की मौत हो गई और 280 से ज्यादा लोग घायल हो गए. गाजा के एक अस्पताल ने हमले की पुष्टि करते हुए कहा कि वे अब तक 10 शवों को बरामद कर चुके हैं जबकि दर्जनों की संख्या में पीड़ितों का इलाज कर रहे हैं. 

राहत ट्रकों का इंतजार कर रही थी भीड़

इजरायली सेना के प्रवक्ता ने इस तरह की किसी भी घटना से इंकार किया है. सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा कि उक्त स्थान पर हमले की जानकारी उनके संज्ञान में नहीं है. इसके बाद इजरायली सेना ने अपने बयान में इस बात की पुष्टि की राहत ट्रकों के पहुंचने के बाद लोगों में धक्का मुक्की जरूर हुई और इसमें काफी लोग घायल हो गए. इस बीच एक इजरायली सूत्र ने बताया कि सेना ने मदद का इंतजार कर रही भीड़ पर अंधाधुंध गोलियां बरसा दीं. 

फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास के कार्यालय ने नबुलसी चौराहे पर इजरायली सेना द्वारा की गई गोलीबारी की भरसक निंदा की.  गाजा हेल्थ मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन अशरफ अल-किद्रा ने बताया कि यह घटना गाजा शहर के नबुलशी चौराहे पर हुई, जहां लोग सहायता ट्रकों का इंतजार कर रहे थे. 

वार्ता की विफलता में होगा इजरायल जिम्मेदार

इजरायली सेना के ताजा हमले पर फिलिस्तीन के चरमपंथी इस्लामी समूह हमास ने कहा कि इस तरह की घटनाएं युद्धविराम समझौते और बंधकों की रिहाई पर हो रही बातचीत पर नकारात्मक असर डालेंगी. हमास के एक नेता ने कहा कि आंदोलन का भुगतान हमारे लोगों की मौत से नहीं होगा. हमास ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि वार्ता असफल होने का सबसे बड़ा कारण इजरायल होगा.