share--v1

एयरस्ट्राइक के बाद ईराक ने दी अमेरिका को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी

USA Strikes: अमेरिकी वायुसेना की सीरिया और ईराक में एयरस्ट्राइक के बाद ईराकी प्रधानमंत्री की ओर से प्रतिक्रिया सामने आई है. बगदाद ने अमेरिका के इस कदम को भड़काऊ और उसकी संप्रभुता का उल्लंघन करार दिया है.

auth-image
Shubhank Agnihotri
फॉलो करें:

USA Strikes: जॉर्डन में अमेरिकी सैनिकों पर हमले के बाद अमेरिका ने सीरिया और ईराक के कई इलाकों में ईरान से जुड़े मिलिशिया समूहों पर एयरस्ट्राइक की है. इस बारे में जानकारी अमेरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने खुद प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए दी. इस कार्रवाई के बाद ईराक ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. ईराकी प्रधानमंत्री के स्पोक्सपर्सन यहिया रसूल ने पीएम के हवाले से कहा कि अमेरिकी एयरफोर्स ने एयरस्ट्राइक के दौरान ईराक की संप्रभुता का उल्लंघन किया है. अमेरिकी एयरस्ट्राइक समूचे क्षेत्रीय शांति के लिए गंभीर खतरा है. यह पूरे इलाके को अशांति और अस्थिरता में बदल देगा. ईराक ने अमेरिकी हमलों में 16 लोगों की मौत की जानकारी दी है, जिसमें कई नागरिक भी शामिल हैं. ईराक ने कहा कि अमेरिका को इसके गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहना होगा. 

एयरस्ट्राइक ने तबाह कर दिया पूरा तंत्र

ईराक की सुरक्षा एजेंसी के दो अधिकारियों ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि पश्चिमी ईराक और सीरिया बॉर्डर से जुड़े इलाकों में ईरान समर्थित मिलिशिया समूहों और कुर्द लड़ाकों के ठिकानों पर अमेरिकी वायुसेना ने भारी बमबारी की है. जिससे क्षेत्र में व्यापक नुकसान पहुंचा है. एयरस्ट्राइक में लड़ाकों के खुफिया और सूचना तंत्र को तबाह कर दिया गया. इसके अलावा लड़ाकों के पास मौजूद हथियारों के वेयरहाउस को भी तबाह कर दिया गया है. अमेरिकी हमलों में कई आतंकियों की मौत की खबरें सामने आई हैं. इसके साथ ही कई आतंकी घायल भी हुए हैं.

अमेरिका ने लिया हमले का बदला 

रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार को अमेरिका ने ईरान समर्थित मिलिशिया संगठनों पर एयरस्ट्राइक की. 30 मिनट तक चली एयरस्ट्राइक में अमेरिकी वायुसेना ने 85 से ज्यादा ठिकानों को टारगेट किया. इस हमले में ईरान रेवॉल्यूशनरी गॉर्ड्स के कमांड सेंटर, मिसाइल और ड्रोन भंडारण वाले स्थानों को निशाना बनाया गया है. बीते दिनों जॉर्डन में अमेरिकी सेना के ठिकानों पर हमले के बाद अमेरिका ने सीरिया और ईराकी इलाके में एयरस्ट्राइक को अंजाम दिया है. 

Also Read

First Published : 03 February 2024, 08:19 PM IST