share--v1

'रखाइन में रहने वाले भारतीय फौरन छोड़ें जगह', विदेश मंत्रालय की एडवाइजरी

म्यांमार में हिंसा और तनावपूर्ण हालात के चलते विदेश मंत्रालय ने एक एडवाइजरी जारी की हैं. जिसमें भारतीय नागरिकों को वहां के रखाइन प्रांत की यात्रा न करने और वहां रह रहे भारतीयों को तत्काल वापस लौटने की सलाह दी हैं.

auth-image
Avinash Kumar Singh
फॉलो करें:

नई दिल्ली: भारत ने भारतीय नागरिकों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें उन्हें बिगड़ती सुरक्षा स्थिति के बीच म्यांमार के रखाइन राज्य की यात्रा न करने की सलाह दी गई है. विदेश मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि वर्तमान में रखाइन राज्य में रह रहे भारतीय नागरिक तुरंत यहां से किसी दूसरे सुरक्षित जगह की ओर चले जाएं. 

विदेश मंत्रालय ने अपनी एडवाइजरी में कहा "बिगड़ती सुरक्षा स्थिति, लैंडलाइन सहित दूरसंचार के अन्य साधनों में व्यवधान और आवश्यक वस्तुओं की गंभीर कमी को देखते हुए सभी भारतीय नागरिकों को सलाह दी जाती है कि वे म्यांमार के रखाइन राज्य की यात्रा न करें, जो भारतीय नागरिक पहले से ही रखाइन में हैं, उन्हें तुरंत यहां से बाहर निकलने की सलाह दी जाती हैं."

म्यांमार में रहने की योजना बनाने वाले लोगों के लिए एडवाइजरी

म्यांमार में ताजा हालात के मद्देनजर विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा गया है कि म्यांमार में रहने की योजना बना रहे सभी भारतीय नागरिकों (पर्यटकों को छोड़कर) को यांगून स्थित भारतीय दूतावास के साथ खुद को पंजीकृत करने की सलाह दी जाती है. दूतावास के साथ पंजीकरण से नागरिकों को किसी भी आपातकालीन स्थिति में या ऐसी आवश्यकता उत्पन्न होने पर उठाए जाने वाले उपायों की सुविधा मिलेगी. पिछले हफ्ते भारत ने म्यांमार में बिगड़ती स्थिति पर भारत ने चिंता व्यक्त की थी और देश में शांति और स्थिरता की वापसी के साथ संघर्ष के शीघ्र समाधान का आग्रह किया था.

म्यांमार में हिंसा की घटनाओं में ताजा बढ़ोतरी 

गौरतलब है कि हाल ही में म्यांमार में हिंसा की घटनाओं में ताजा बढ़ोतरी देखी गई है. 1 फरवरी 2021 को सेना की ओर से तख्तापलट कर सत्ता पर कब्जा करने के बाद से म्यांमार में लोकतंत्र की बहाली की मांग को लेकर व्यापक हिंसक विरोध प्रदर्शन का दौर देखने को मिल रहा है. म्यांमार की सेना अपने विरोधियों और सत्तारूढ़ शासन के खिलाफ सशस्त्र संघर्ष करने वालों को निशाना बनाकर हवाई हमले कर रही है. म्यांमार ने 1 फरवरी को सैन्य तख्तापलट की तीसरी वर्षगांठ मनाई, जहां तीन साल पहले सेना ने तख्तापलट कर सत्ता पर कब्जा कर लिया था. 

मिजोरम राज्य में म्यांमार से लोगों की भारी आमद 

म्यांमार सेना की ओर से सीमावर्ती इलाकों में हवाई हमले शुरू करने के बाद भारत-म्यांमार सीमा पर मिजोरम राज्य में म्यांमार से लोगों की भारी आमद हुई. पिछले साल अक्टूबर में तीन जातीय अल्पसंख्यक बलों ने एक समन्वित आक्रमण शुरू किया, जिसमें कुछ कस्बों और सैन्य चौकियों पर कब्जा कर लिया गया. जिसके बाद पिछले साल दिसंबर में कम से कम 151 म्यांमारी सैनिक एक सशस्त्र जातीय समूह से बचने के लिए भागकर मिजोरम में घुस आये थे. 

Also Read

First Published : 07 February 2024, 09:35 AM IST