menu-icon
India Daily
share--v1

सबसे खतरनाक देश से भारतीयों की वतन वापसी के लिए शुरु हुआ 'ऑपरेशन इंद्रावती'

Indravati Operation: भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने 'ऑपरेशन इंद्रावती' को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर जानकारी दी है.

auth-image
India Daily Live
operation indravati

Indravati Operation: भारत ने हिंसा प्रभावित दुनिया के सबसे खतरनाक देशों में से एक हैती से अपने नागरिकों की सकुशल वापसी के लिए एक ऑपरेशन शुरु किया है. इस ऑपरेशन की मदद से गुरुवार को 12 भारतीय नागरिकों को सुरक्षित तरीके से निकाला गया है. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ऑपरेशन इंद्रावती की जानकारी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर दी है. एक्स पर उन्होंने लिखा कि भारत सरकार अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है. 

विदेश मंत्री जयशंकर ने भारत के अपने नागरिकों को सकुशल देश वापस लाने के लिए शुरु किए गए ऑपरेशन के बारे में कहा कि सरकार भारतीयों की सुरक्षा और भलाई के लिए समर्पित है. उन्होंने ऑपरेशन में डोमिनिकन रिपब्लिक द्वारा भारत की मदद के लिए भी धन्यवाद प्रेषित किया है.

कैरिबियन देश हैती महीनों से आग की लपट में झुलस रहा है. कुछ दिन पहले ही हथियारबंद समूहों ने देश की राजधानी पर हमला कर पूरी प्रशासनिक व्यवस्था को अस्त-व्यस्त कर दिया था. इस हमले के दौरान जेलों में कैद हजारों आरोपी फरार होने में सफल हो गए थे. हैती के हालात इस कदर खराब हो गए कि अमेरिका को अपने दूतावास में तैनात कर्मियों को एयरलिफ्ट करके बाहर निकालना पड़ा. हथियारबंद समूह के कारण हैती के प्रधानमंत्री एरिएल हैनरी ने भी अपना इस्तीफा दे दिया है. 

पीएम हैनरी के इस्तीफे के बाद भी हैती अशांति और हिंसा की आग में झुलस रहा है. शांति के सारे प्रयास कमजोर पड़ते दिखाई पड़ रहे हैं.  देश के 80 फीसदी इलाकों पर सरकार विरोधी गैंग्स का कब्जा है. ये गैंग अपने-अपने नेताओं को देश का प्रमुख नेता बनाए जाने का प्रयास कर रहे हैं. हैती की राजधानी पोर्ट औ प्रिंस को दुनिया का सबसे अशांत शहर माना जाता है. विकराल हिंसा के कारण यहां पुलिस प्रशासन जैसी कोई व्यवस्था नहीं बची है.