share--v1

खालिस्तानी आतंकवादी की हत्या के आरोप में कनाडा ने भारतीय राजनयिक को किया निष्कासित

विदेश मंत्री मेलानी जोली ने 18 जून को खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मामले में एक भारतीय राजनयिक को निष्कासित कर दिया.

auth-image
Gyanendra Sharma

नई दिल्ली:  कनाडा ने सोमवार को एक भारतीय राजनयिक को निष्कासित कर दिया। विदेश मंत्री मेलानी जोली ने 18 जून को खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के मामले में एक भारतीय राजनयिक को निष्कासित किया. समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के अनुसार, कनाडा के प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो द्वारा जून में भारत सरकार और खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बीच संभावित संबंध का दावा करने के बाद कनाडाई विदेश मंत्री मेलानी जोली ने सोमवार को एक भारतीय राजनयिक को निष्कासित कर दिया।

कनाडाई विदेश मंत्री मेलानी जोली ने कहा कि कनाडा में भारतीय खुफिया प्रमुख को निष्कासित कर दिया गया है। अगर यह सच साबित हुआ, तो यह हमारी संप्रभुता और देशों के एक-दूसरे के साथ व्यवहार करने के सबसे बुनियादी नियम का बड़ा उल्लंघन होगा। बता दें कि यह कार्यवाही कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के उस बयान के बाद हुई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि देश की सुरक्षा एजेंसियां भारत सरकार और खालिस्तानी आतंकवादी की हत्या के बीच संबंध की जांच कर रही हैं.

ट्रूडो ने क्या कहा?


ट्रूडो ने ओटावा में हाउस ऑफ कॉमन्स में बोलते हुए कहा, कनाडाई सुरक्षा एजेंसियां भारत सरकार के एजेंटों और एक कनाडाई नागरिक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बीच संभावित संबंध के विश्वसनीय आरोपों पर सक्रिय रूप से काम कर रही हैं." ट्रूडो ने कहा कि कनाडा के नागरिक की उसी की सरजमीं पर हत्या में किसी अन्य देश या विदेशी सरकार की संलिप्तता बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

भारत सरकार द्वारा वांछित हरदीप सिंह निज्जर इस साल 18 जून को एक गोलीबारी में मारा गया था. निज्जर की सर में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई. ट्रूडो ने कहा कि उन्होंने जी20 शिखर सम्मेलन में भी इस मुद्दे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने उठाया था.