menu-icon
India Daily
share--v1

चांद में दाग के बाद मंगल में छेद! आखिर धरती के लोग क्यों हो रहे हैं खुश

Hole On Mars: चांद में दाग के बाद अब मंगल में छेद मिले हैं. हालांकि, इसे जानकर वैज्ञानिक बड़े खुश हो रहे हैं. आइये जानें ऐसा क्या है इस रिसर्च में जो धरती में इतनी खुशी हो रही है.

auth-image
India Daily Live
Hole On Mars
Courtesy: NASA

Hole On Mars: चांद में दाग की कहावत तो आपने सुनी होंगी, असल में वो चांद पर स्थित गड्ढे हैं. यहां रोशनी न पहुंचने के कारण ये धरती से काले दाग की तरह दिखाई देते हैं. अब वैज्ञानिकों को मंगल ग्रह पर छेद मिले हैं. इस खबर के मिलते ही वैज्ञानिक खुश हो रहे हैं. आखिर मंगल के इन छेद में ऐसा क्या है जो लोग इसके बारे में जानकार इतना खुश हो रहे हैं.

वैज्ञानिकों का मानना है कि मंगल ग्रह पर प्राचीन ज्वालामुखियों से निकले लावा के कारण गड्ढे बने हैं. यहीं किसी छेद की तरह नजर आते हैं. माना जा रहा है इनपर इंसानों के लिए अनुकूल हालत बन सकते हैं.

कहां मिला है छेद या गड्ढा

कुछ मीटर चौड़ा यह गड्ढा चांद के उस जगह पर है जहां अर्सिया मार्स नाम का ज्वालामुखी मौजूद है. ये मंगल का थार्सिस उभार का इलाका है जो हजारों किलोमीटर में फैला है. इसके नीचे कई ज्वालामुखी धधकते हैं. ये इलाका मंगल की बाकी सतह के मुकाबले करीब 10 मीटर ऊपर है.

वैज्ञानिकों में उत्साह

मंगल ग्रह पर प्राचीन ज्वालामुखी के किनारे एक रहस्यमयी गड्ढे ने अंतरिक्ष वैज्ञानिकों के लिए उत्साह पैदा कर दिया है. नासा के मार्स रिकॉनिस्सेंस ऑर्बिटर (एमआरओ) पर लगे हाई-रिजोल्यूशन इमेजिंग साइंस एक्सपेरिमेंट कैमरे से कुछ तस्वीरें ली गई हैं. इसे विलुप्त हो चुके ज्वालामुखी के किनारे अगस्त 2022 में देखा गया था.

जीवन की जानकारी

इस तरह के गड्ढों को 'पिट क्रेटर' कहा जाता है. ऐसे गड्ढे धरती पर भी हैं जिनकी गहराई छह से 186 मीटर तक है. वहीं मंगल पर मिले इस गड्ढे की गहराई 178 मीटर तक बताई जा रही है. वैज्ञानिकों को आकर्षित करते हैं क्योंकि इसके जरिए मंगल ग्रह पर जीवन के बारे में जानकारी जुटाई जा सकती है.

ऑपरेशन में शरण

मंगल में पाए गए कई गड्ढों का टेंपरेचर 17 डिग्री सेल्सियस तक है. वैज्ञानिकों और अंतरिक्ष यात्रियों का मानना है कि किसी अंतरिक्ष ऑपरेशन के दौरान रेडिएशन, बदलाव या छोटे उल्कापिंडों से बचने के लिए यहां शरण मिल सकती है. इसके साथ ही यहां सूक्ष्म जीवों की तलाश की जा सकती है.