share--v1

Israel Hamas War: हमास का दावा- इजरायल ने बंधकों को लेने से मना किया, इजरायल ने बताया प्रोपेगेंडा

Israel Hamas War: हमास के दो बंधकों के रिहा करने के दावों को इजरायली प्रधानमंत्री कार्यालय ने प्रोपेगेंडा करार दिया है. हमास ने दावा किया था कि उसने दो अमेरिकी नागरिकों की रिहाई के साथ ही दो बंधकों को और छोड़ने का फैसला किया था.

auth-image
Shubhank Agnihotri
फॉलो करें:

Israel Hamas War: इजरायल और हमास जंग का आज 16वां दिन है. हमास ने 7 अक्टूबर को किए गए हमले में 200 लोगों को बंधक बना लिया था. इस बीच हमास ने दावा किया कि उसने मानवीय आधारों पर दो बंधकों को रिहा करने का फैसला किया था, जिन्हें इजरायली सरकार ने लेने से इंकार कर दिया था. हालांकि, इजरायल ने हमास के इन दावों को धता बताकर खारिज कर दिया है. पीएम ऑफिस ने इस पर बयान जारी करते हुए कहा कि हम हमास के झूठे प्रचार के साथ नहीं हैं.

 

क्या कहा हमास ने ?

हमास की मिलिट्री विंग के स्पोक्सपर्सन अबू उबैदा ने कहा कि जिस दिन दो अमेरिकी नागरिकों को रिहा करने का फैसला किया गया था उसी दिन मानवीय आधार पर दो लोगों को और रिहा करने का फैसला किया था. हमारी ओर से इस बात की सूचना कतर को दी गई थी. मगर इजरायल ने इन बंधकों को लेने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई. हमास प्रवक्ता अबू उबैदा ने कहा कि हमास जूडिथ और नताली के साथ दो और लोगों को रिहा करने के लिए तैयार था.


इजरायल ने दिया जवाब


इजरायल ने हमास के सभी दावों को खारिज करते हुए कहा कि हमास दो अन्य लोगों रिहा करने का सिर्फ दुष्प्रचार कर रहा है. इजरायल की ओर से कहा गया है कि वह अपने लापता लोगों की घर वापसी तक कार्रवाई जारी रखेगा. आपको बता दें कि हमास लड़ाकों ने इजरायल पर हमला करने के बाद  200 से ज्यादा लोगों को बंधक लिया था.

 

हजारों लोगों की अब तक मौत

हमास ने इजरायल पर सात अक्टूबर को इजरायल पर हमला किया था. इस हमले के बाद से 1400 से ज्यादा इजरायलियों की मौत हो चुकी है. वहीं इजरायल की जवाबी कार्रवाई में भी फिलिस्तीन के 4300 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं. 
 

यह भी पढ़ेंः Israel Hamas War: फिलिस्तीन विरोधी ट्वीट ने छीन ली भारतीय डॉरक्टर की नौकरी, जानें कहां का है मामला

First Published : 22 October 2023, 10:02 AM IST