menu-icon
India Daily
share--v1

अवैध विवाह मामले में कोर्ट का इमरान खान को नोटिस, खान की और बढ़ेंगी मुश्किलें

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान बुशरा बीबी से शादी को लेकर भी मुश्किलों में घिरते नजर आ रहे हैं. इस्लामाबाद की सत्र अदालत ने इनकी अवैध शादी के मामले को स्वीकार योग्य बताते हुए दोनों को 20 जुलाई को पेश होने के लिए कहा है.

auth-image
Manish Pandey
अवैध विवाह मामले में कोर्ट का इमरान खान को नोटिस, खान की और बढ़ेंगी मुश्किलें


नई दिल्लीः पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान बुशरा बीबी से शादी को लेकर भी मुश्किलों में घिरते नजर आ रहे हैं. इस्लामाबाद की सत्र अदालत ने इनकी अवैध शादी के मामले को स्वीकार योग्य बताते हुए दोनों को 20 जुलाई को पेश होने के लिए कहा है. यह जानकारी जिओ टीवी के जरिए प्रसारित की गई है.


क्या है मामला?
रिपोर्ट के अनुसार, इमरान और बुशरा बीबी की शादी इस्लाीमिक शरिया के कानून के हिसाब से नहीं हुई थी. दरअसल मामले के याचिकाकर्ता मुहम्म्द हनीफ ने बताया कि बुशरा बीबी को उनके पूर्व पति ने नवंबर 2017 में तलाक दे दिया था लेकिन बुशरा ने इद्दत अवधि की समाप्ति से पहले ही जनवरी 2018 में इमरान खान से निकाह कर लिया था.  ऐसे में यह निकाह इस्लाम के शरिया कानून के खिलाफ था.


क्या है इद्दत?
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इद्दत तलाक, मृत्यु या अपने शौहर से किसी अन्य कारण से अलगाव के बाद की 130 दिन की अवधि है जिसमें उस महिला को अविवाहित रहना पड़ता है.

शादी कराने वाले मौलवी ने क्या कहा
इमरान और बुशरा बीबी की शादी कराने वाले मौलवी मुफ्ती मोहम्मद सईद ने कोर्ट में बताया कि इमरान ने यह शादी सब कुछ जानने के बाद इद्दत की अवधि के दौरान की थी. साथ ही मौलवी ने कहा कि बुशरा की बहन होने का दावा करने वाली एक महिला ने यह आश्वासम दिया था कि इस निकाह में निकाह से जुड़ी सभी शर्तों को पूरा किया गया है. 
आपको बता दें कि बुशरा का तलाक नवंबर 2017 में हुआ था. उस समय एक ऐसी भविष्यवाणी की गई थी जिसमें कहा गया था कि पीटीआई अध्यक्ष यदि बुशरा बीबी से शादी करेंगे तो वह पाक के पीएम बनेगें. इसी वजह से इमरान खान ने बुशरा बीबी से निकाह किया था.