share--v1

कनाडा: लक्ष्मी नारायण मंदिर के अध्यक्ष के बेटे के घर पर गोलीबारी

अधिकारी अभी भी फायरिंग के कारणों की तलाश में जुटे हैं. हाल ही में सरे के लक्ष्मी नारायण मंदिर पर हमले की धमकी मिली है. अब मंदिर के अध्यक्ष के बेटे के घर पर फायरिंग हुई है. पुलिस दोनों मामलों को जोड़कर भी जांच पड़ताल कर रही है. 

auth-image
Om Pratap

Canada Lakshmi Narayan Mandir president son residence Firing updates: कनाडा के सरे में एक भारतीय मूल के शख्स के आवास पर गोलीबारी हुई. जिस शख्स के घर पर फायरिंग हुई है, वो लक्ष्मी नारायण मंदिर के अध्यक्ष सतीश कुमार का बेटा बताया जा रहा है. उधर, फायरिंग की सूचना के बाद मौके पर पहुंची रॉयल कैनेडियन माउंटेड पुलिस घटना की जांच में जुट गई. जानकारी के मुताबिक, घटना बुधवार (27 दिसंबर) सुबह की है.

पुलिस के मुताबिक, फायरिंग की घटना सरे के 80 एवेन्यू के 14900 ब्लॉक में एक घर के बाहर हुई. फायरिंग के दौरान किसी के घायल या फिर मारे जाने की कोई खबर नहीं है. सरे पुलिस के मीडिया रिलेशन ऑफिसर कांस्टेबल परमबीर काहलों के अनुसार, घटनास्थल पर गोलियों के निशान मिले हैं. फिलहाल, पुलिस घटना की जांच में जुटी है और आसपास के लोगों से बातचीत कर रही है. पुलिस के मुताबिक, सीसीटीवी फुटेज के जरिए हमलावरों तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है.

फायरिंग के कारणों की तलाश में जुटी पुलिस

सरे आरसीएमपी जनरल इन्वेस्टिगेशन यूनिट भी मामले की जांच में जुटी है. कहा जा रहा है कि अधिकारी अभी भी फायरिंग के कारणों की तलाश में जुटे हैं. हाल ही में सरे के लक्ष्मी नारायण मंदिर पर हमले की धमकी मिली है. अब मंदिर के अध्यक्ष के बेटे के घर पर फायरिंग हुई है. पुलिस दोनों मामलों को जोड़कर भी जांच पड़ताल कर रही है. 

बता दें कि नवंबर में, भारतीय मूल के कनाडाई सांसद चंद्र आर्य ने सरे में खालिस्तान समर्थक समर्थकों का एक कथित वीडियो शेयर किया था, जिसमें दावा किया गया था कि वे वहां हिंदू लक्ष्मी नारायण मंदिर में परेशानी पैदा करना चाहते हैं. कुछ रिपोर्टों के अनुसार, खालिस्तान समर्थकों ने सरे, बीसी में एक सिख गुरुद्वारे के बाहर एक सिख परिवार के साथ मौखिक रूप से दुर्व्यवहार किया था. अब आशंका है कि सिख परिवार से दुर्व्यवहार करने वाले खालिस्तानी समूह ने घटना को अंजाम दिया होगा. 

पिछले कुछ सालों में मंदिर पर हुई हैं कई हमले

पिछले कुछ साल में हिंदू मंदिरों पर कई बार हमले हुए हैं. हिंदू-कनाडाई लोगों के खिलाफ हेट क्राइम को अंजाम दिया जा रहा है. इस साल अगस्त में खालिस्तान जनमत संग्रह के पोस्टर के साथ चरमपंथी तत्वों की ओर से कनाडा में एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की गई थी. इससे पहले इसी साल अप्रैल में, कनाडा के ओंटारियो में विंडसर में भारत विरोधी नारों के साथ बीएपीएस स्वामीनारायण मंदिर में तोड़फोड़ की गई थी.

वहीं, फरवरी में भी कनाडा के मिसिसॉगा में राम मंदिर में दीवारों पर भारत विरोधी नारेबाजी लिखी गई थी और मंदिर में तोड़फोड़ भी की गई थी. इससे पहले जनवरी में, ब्रैम्पटन में एक हिंदू मंदिर परिसर में भारत विरोधी नारेबाजी लिखी गई थी, जिसके बाद भारतीय समुदाय में आक्रोश फैल गया था.

Also Read

First Published : 29 December 2023, 10:20 AM IST