menu-icon
India Daily
share--v1

Us Air Strike in Syria: अमेरिका की सीरिया में ईरानी ठिकानों पर फिर से एयरस्ट्राइक, कई लोगों की मौत

Air Strike in Syria: इजरायल और हमास के बीच जारी संघर्ष में पूर्वी सीरिया में स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर ईरान के समर्थन वाले समूह हमले कर रहे हैं. इन हमलों के जवाब में अमेरिका ने बुधवार को एयरस्ट्राइक में ईरान समर्थित समूह के 9 लोगों को मार गिराया है.

auth-image
Shubhank Agnihotri
Us Air Strike in Syria: अमेरिका की सीरिया में ईरानी ठिकानों पर फिर से एयरस्ट्राइक, कई लोगों की मौत

Air Strike in Syria: इजरायल और हमास के बीच जारी संघर्ष की आग अब पड़ोसी देशों में भी फैलती जा रही है. इस बीच पूर्वी सीरिया में स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर ईरान के समर्थन वाले समूह हमले कर रहे हैं. इन हमलों के जवाब में अमेरिका ने बुधवार को एयरस्ट्राइक को अंजाम दिया है. इस एयरस्ट्राइक में ईरान समर्थित समूह के 9 लोगों के मारे जाने की खबर है.

दो हफ्ते में दूसरी बार हमला 


रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका का यह हमला ईरान समर्थित मिलिशिया की ओर से इस्तेमाल होने वाली हथियारों के गोदाम पर किया है. यूएस के दो एफ-15 फाइटर जेट ने ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड से जुडे़ हथियारों के गोदाम पर हमला कर दिया. यह जानकारी अमेरिकी रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन ने दी. उन्होंने कहा कि हमारे लिए अमेरिकी सैनिकों की सुरक्षा बेहद महत्वपूर्ण है और इसके लिए हम कुछ भी करेंगे.


ईरान लड़ाई बढ़ाने की कोशिश कर रहा 


अमेरिका मे बीते 2 हफ्तों के भीतर दूसरी बार सीरिया में मौजूद ईरानी ठिकानों पर हमला किया है. अमेरिका ने जानकारी देते हुए बताया कि 17 अक्टूबर के बाद से कम से कम 40 हमले ऐसे हुए हैं जिनमें अमेरिकी सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया है.अमेरिका ने कहा कि ईरान और उसके सहयोगी हमास और इजरायल की लड़ाई को क्षेत्रीय युद्ध में बदलने की कोशिश कर रहे हैं.

अमेरिका के घायल हो गए थे दर्जनों सैनिक

पेंटागन के मुताबिक, 17 और 18 अक्टूबर को ईरान समर्थित समूहों ने अमेरिकी सैनिकों के ठिकानों पर हमला किया. इन हमलों में अमेरिका के कुल 45 सैनिक घायल हो गए. इस्लामिक स्टेट के प्रभाव को क्षेत्र में फिर से रोकने के लिए अमेरिका ने ईरान में लगभग 2500 और सीरिया में 900 सैनिकों को तैनात किया है.

 

 

यह भी पढ़ेंः  पाक पीएम काकर का तालिबान पर निशाना, कहा- सत्ता में आने के बाद पाकिस्तान में बढ़े आतंकी हमले