share--v1

Hurun Rich List 2024: मुंबई के आगे फिसड्डी बना बीजिंग, इस मामले में भारत ने चीन को भी छोड़ा पीछे

Hurun Rich List 2024: देश की औद्योगिक राजधानी मुंबई में एशिया के सबसे ज्यादा अरबपति रहते हैं. Hurun Rich List 2024 के अनुसार इस बार भारत की मुंबई ने अरबपतियों के मामले में चीन की राजधानी बीजिंग को भी पीछे छोड़ दिया है. 

auth-image
India Daily Live

Hurun Rich List 2024: हुरुन रिसर्च की 2024 ग्लोबल रिच लिस्ट में भारत की मुंबई में एशिया के सबसे ज्यादा अरबपतियों के होने का खुलासा हुआ है. इस लिस्ट के अनुसार मुंबई में सबसे ज्यादा अरबपति रहते हैं. वहीं, बीते साल की लिस्ट के मुताबिक अरबपतियों के मामले में चीन की राजधानी बीजिंग नंबर-1 पर थी पर अब ये खिताब मुंबई के पास आ गया है. 

हुरुन रिसर्च की 2024 में जारी हुई लिस्ट के मुताबिक चीन के बीजिंग में 91 अरबपति रहते हैं. वहीं, मुंबई में 92 अरबपति निवास करते हैं. अगर पूरे देश की बात करें तो चीन में भारत से ज्यादा अरबपति रहते हैं. चीन में 814 लोग अरबपति हैं. वहीं, भारत में महज 271 लोग ही अरबपति हैं. ग्लोबल लेवल पर बात करें तो न्यूयॉर्क के बाद भारत का मुंबई अब सबसे ज्यादा अरबपतियों के मामले में तीसरे नंबर पर है. सबसे ज्यादा अरबपति न्यूयॉर्क में रहते हैं. यहां करीब 119 लोग अरबपति हैं. वहीं, दूसरे स्थान पर लंदन है, यहां पर 119 अरबपति रहते हैं. तीसरे स्थान पर मुंबई है, इसमें 92 अरबपति निवास करते हैं. 

मुंबई में बढ़े इतने अरबपति

मुंबई में 26 नए लोग अरबपति बन गए हैं. वहीं , चीन की राजधानी बीजिंग में 18 लोग अरबपतियों की लिस्ट से बाहर हुए हैं. मुंबई में कुल अरबपतियों की संपत्ति 445 अरब डॉलर है.यह पिछले साल के मुकाबले 47 फीसदी अधिक है. वहीं, बीजिंग में अरबपतियों की संपत्ति 265 अरब डॉलर है. यहां अरबपतियों की संपत्ति में 28 फीसदी की कमी आई है. 

इन अरबपतियों की बढ़ी है संपत्ति

ग्लोबल रिच लिस्ट के अनुसार, मुकेश अंबानी की संपत्ति में बढोतरी हुई है. इसके साथ ही गौतम अडानी की संपत्ति में भी इजाफा हुआ है. इस कारण मुकेश अंबानी विश्व में अमीरों की लिस्ट में 10 वें और गौतम अडानी 15वें स्थान पर हैं. इसके साथ ही एचसीएल की शिवनादर और उनके परिवार की संपत्ति में इजाफा होने के कारण उनकी रैंक 16 स्थान ऊपर होकर 34 वें नंबर पर पहुंच गई है. 

इनकी संपत्ति में आई है गिरावट

ग्लोबल रिच लिस्ट की बात करें तो कुछ अरबपतियों की वैश्विक रैंकिंग में गिरावट भी दर्ज की गई है. सीरम इंस्टीट्यूट के एस पूनावाला की संपत्ति में कुछ गिरावट दर्ज की गई है. वहीं सन फार्मास्यूटिकल्स के दिलीप सांघवी और कुमार मंगलम बिड़ला व राधाकिशन दमानी की संपत्ति में इजाफा हुआ है.