share--v1

मुंबई नहीं, देश के इस शहर में लगता है सबसे भीषण ट्रैफिक जाम

छह महाद्वीपों के 55 देशों के 387 शहरों से जुटाए गए डेटा पर ये जानकारी सामने आई है. टॉमटॉम ट्रैफिक इंडेक्स ने इन शहरों में ट्रैफिक में शामिल गाड़ियों की ट्रैवल टाइमिंग, फ्यूल कॉस्ट और CO2 उत्सर्जन के आधार पर ये आंकड़ा जुटाया.

auth-image
Om Pratap
फॉलो करें:

world worst traffic city: क्या आपको पता है कि देश का वो कौन सा शहर है, जहां का ट्रैफिक सबसे धीमा है, किस शहर को ट्रैफिक के मामले में सबसे खराब माना जाता है? अंदाजा लगाइए, चलिए आप जो भी अंदाजा लगाएं, लेकिन हम आपको इसकी जानकारी देते हैं. साथ ही आपको बताते हैं कि दुनिया के ऐसे और कौन से शहर हैं, जहां का ट्रैफिक सबसे धीमा होता है. यानी अगर आप एक बार ट्रैफिक में फंस गए तो फिर समझ लीजिए कि आपके घंटों बर्बाद हो गए. 

दरअसल, एम्स्टर्डम स्थित टेक्नोलॉजी स्पेशलिस्ट 'टॉमटॉम' की रिपोर्ट में दुनिया के कुछ प्रमुख शहरों के ट्रैफिक को लेकर चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ब्रिटेन की राजधानी लंदन 2023 में गाड़ी चलाने के मामले में दुनिया का सबसे धीमा शहर था, जहां व्यस्त समय में औसत गति 14 किमी प्रति घंटा थी. रिपोर्ट में जानकारी दी गई है कि इस लिस्ट में भारत के भी दो शहर शामिल हैं, जहां का ट्रैफिक सबसे धीमा होता है. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के दो शहरों में पुणे और बेंगलुरु शामिल है.  

टॉमटॉम ट्रैफिक इंडेक्स ने इन जानकारियों को जुटाने के लिए छह महाद्वीपों के 55 देशों के 387 शहरों से आंकड़े इकट्ठे किए. बताया गया कि ट्रैफिक इंडेक्स रिपोर्ट जारी करने के लिए टॉमटॉम ने 55 देशों के 387 शहरों में गाड़ियों की ट्रैवल टाइमिंग, फ्यूल कॉस्ट और कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन का मूल्यांकन किया. इसके साथ ही करीब 60 करोड़ से अधिक इन-कार नेविगेशन सिस्टम और स्मार्टफोन के डेटा को भी स्कैन किया.

सबसे खराब ट्रैफिक वाले शहरों में बेंगलुरु, पुणे

टॉमटॉम ट्रैफिक इंडेक्स में बेंगलुरु को छठे, जबकि पुणे को 7वें नंबर पर रखा गया है. देश के मात्र ये दो शहर हैं, जिन्हें 2023 में दुनिया के 10 सबसे खराब यातायात प्रभावित शहरों की लिस्ट में शामिल किया गया है. टॉमटॉम की रिपोर्ट में कहा गया है कि 2023 में बेंगलुरु में प्रति 10 किमी की यात्रा का औसत समय 28 मिनट 10 सेकंड था, जबकि पुणे में यह 27 मिनट 50 सेकंड था.

भारत की आईटी राजधानी बेंगलुरु को आयरलैंड की राजधानी डबलिन के बाद 2023 में दूसरा सबसे भीड़भाड़ वाला शहर माना गया. 2023 में बेंगलुरु में यात्रा करने के लिए सबसे खराब दिन 27 सितंबर था, जब 10 किमी ड्राइव करने में औसत यात्रा का समय 32 मिनट दर्ज किया गया था. वहीं, पुणे में को 2023 में छठा सबसे भीड़भाड़ वाला शहर माना गया. कहा गया कि पुणे में यात्रा करने के लिए सबसे खराब दिन 8 सितंबर था, जब 10 किमी की दूरी तय करने में लगभग 34 मिनट लगे थे.

दिल्ली, मुंबई भी ट्रैफिक से प्रभावित

रिपोर्ट में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुंबई को भी शामिल किया गया. इस लिस्ट में दिल्ली को 44वें जबकि मुंबई को 52 स्थान पर रखा गया. रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली में 2023 में 10 किमी की दूरी तय करने में औसतन 21 मिनट 40 सेकंड और मुंबई में 21 मिनट 20 सेकंड का समय लगा.

लंदन, डबलिन, टोरंटो सबसे खराब यातायात-प्रभावित शहर

टॉमटॉम की रिपोर्ट के अनुसार, 2023 में यातायात से सबसे अधिक प्रभावित शहर लंदन था, जहां प्रति 10 किमी की यात्रा में औसत समय 37 मिनट रहा. लिस्ट में में दूसरे स्थान पर डबलिन था, जहां पिछले साल प्रति 10 किमी की यात्रा में औसतन 29 मिनट 30 सेकंड का समय लगा, जबकि तीसरे स्थान पर कनाडा का टोरंटो शहर था, जहां 2023 में 10 किमी की यात्रा करने में 29 मिनट का समय लगा. रिपोर्ट में कहा गया है कि लंदन और डबलिन में, लगभग 9 किलोमीटर की यात्रा का समय 2022 की तुलना में +1 मिनट बढ़ गया.

2023 में औसत गति में कमी आई

टॉमटॉम ने कहा कि 2022 की तुलना में 2023 में ट्रैफिक इंडेक्स में विश्लेषण किए गए 387 शहरों में से 228 में औसत गति में कमी आई है. कम से कम 82 शहरों की औसत गति में कोई परिवर्तन नहीं आया, जबकि 77 शहरों की औसत गति अधिक थी. रिपोर्ट के मुताबिक, 351 शहरों में से 60% से अधिक में फ्यूल कॉस्ट को जुटाया गया, जिसमें निष्कर्ष निकला कि 2021 और 2023 के बीच फ्यूल का औसत कॉस्ट 15% या उससे अधिक बढ़ गया.

 

First Published : 04 February 2024, 11:04 AM IST