share--v1

Women Reservation Bill: राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पर चर्चा, जेपी नड्डा बोले- 'मोदी जी पक्का काम करते हैं'

Women Reservation Bill: लोकसभा से पास होने के बाद महिला आरक्षण बिल को राज्यसभा में पेश किया गया है. राज्यसभा में बिल पर चर्चा जारी है.

auth-image
Amit Mishra
फॉलो करें:

Rajya Sabha Women Reservation Bill: महिला आरक्षण बिल राज्यसभा (Rajya Sabha) में पेश कर दिया गया है. केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने राज्यसभा में इस बिल को पेश किया. महिला आरक्षण बिल यानी की नारी शक्ति वंदन अधिनियम के लोकसभा से पास होने के बाद राज्यसभा में चर्चा शुरू हो गई है. चर्चा के बाद आज ही ये बिल राज्यसभा में पास हो सकता है.

राहुल गांधी पर साधा निशाना

राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पर चर्चा के दौरान जेपी नड्डा ने कहा कि सरकार के प्रयासों से सेक्स रेशियो बर्थ के हिसाब से 19 फीसदी बढ़ा है. हायर एजुकेशन में भी रेशियो बढ़ा है. आज देश में सेक्स रेशियों भी बढ़ा है और 1000 पुरुषों पर 1020 महिलाएं हैं. राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा कि जो सिल्वर स्पून के साथ पैदा होते हैं, वो गरीब की तकलीफ क्या जानें. पीएम मोदी समझते हैं. 12 करोड़ बहनों को इज्जत के साथ घर दिया गया है. उनको इज्जत देने का काम पीएम मोदी ने किया और उसे संयुक्त राष्ट्र ने भी माना और सम्मानित किया. प्रधानमंत्री आवास योजना, एलपीजी गैस कनेक्शन से भी महिलाओं के जीवन में बदलाव आया है. राहुल पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि लीडर को लीडर बनना पड़ता है, ट्यूटर्ड स्टेटमेंट देने से काम नहीं चलता है.

पॉलिटिकल एडवांटेज लेना मकसद नहीं

जेपी नड्डा ने कहा, 'बीजेपी का काम इससे पॉलिटिकल एडवांटेज लेना नहीं है. मोदी जी जो काम करते हैं वो पक्का काम करते हैं. कच्चा काम नहीं करते. बीजेपी महिलाओं का उत्थान करने में हमेशा आगे रही है. बीजेपी पहली और अकेली पार्टी है, जो महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण सब जगह देती है.'

 

'आज नहीं करते हो तो समय अधिक लगेगा'

जेपी नड्डा ने आगे कहा कि नारी शक्ति वंदन विधेयक लेकर आए हैं तो ये अहसान नहीं, उनका वंदन, अभिनंदन है. रिसर्च बताती है कि महिलाओं की सेंसिटिविटी ज्यादा है. ऐसे विषयों पर उनकी डिसीजन मेकिंग ज्यादा फास्ट है. अगर आज ये बिल पास होता है तो 2029 तक ये व्यवस्था लागू हो सकेगी. अगर आज नहीं करते हो तो समय अधिक लगेगा. सीटें बढ़ाकर करें तो भी तो 33 फीसदी ही सीटें आएंगी. 

कानून मंत्री ने पेश किया बिल

केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने राज्यसभा में महिला आरक्षण विधेयक पेश किया.

 

पीएम मोदी ने जताया आभार

राज्यसभा में बिल पेश होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में बोलते हुए कहा कि कल संसदीय यात्रा का स्वर्णिम पल था. पीएम मोदी ने महिला आरक्षण बिल का समर्थन करने वाले सभी सांसदों का आभार जताया. उन्होंने कहा कि कल के निर्णय से देश की मातृशक्ति का मिजाज बदलेगा. मैं आप सबका धन्यवाद करता हूं. सभी दल इस स्वर्णिम पल के हकदार हैं.
 

 

लोकसभा में पास हुआ बिल 

एक दिन पहले ही संसद और विधानसभा में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने वाला ये बिल लोकसभा में पास हुआ था. विधेयक पक्ष में 454 वोट पड़े थे, जबकि इसके विरोध में असदुद्दीन ओवैसी 2 सांसदों ने वोट किया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा से विधेयक पास होने के बाद ट्वीट किया था कि इस अभूतपूर्व समर्थन के साथ लोकसभा में बिल पारित होने पर खुशी हुई.लोकसभा (Lok sabha) में ये बिल दो तिहाई बहुमत से पास हुआ था.

पीए मोदी ने कहा धन्यवाद

इसस पहले पीएम मोदी ने X (पहले ट्विटर) पर पोस्ट करते हुए सभी को धन्यवाद दिया था. पीएम ने लिखा, ''लोकसभा में संविधान (128वां संशोधन) विधेयक, 2023 के पारित होने पर खुशी हुई. मैं सभी दलों के सांसदों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस विधेयक के समर्थन में वोट किया.'' पीएम मोदी ने आगे लिखा, नारी शक्ति वंदन अधिनियम एक ऐतिहासिक कानून है जो महिला सशक्तिकरण को और बढ़ावा देगा और हमारी राजनीतिक में महिलाओं की भागीदारी बढ़ेगी.

 

सदन में बढ़ेगी महिलाओं की भागीदारी

बता दें कि लोकसभा में महिला आरक्षण बिल पर चर्चा के दौरान 60 सांसदों ने अपने विचार रखे थे. राहुल गांधी ने कहा था कि OBC आरक्षण के बिना ये बिल अधूरा है. इस पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था कि ये आरक्षण सामान्य, एससी और एसटी में समान रूप से लागू होगा. चुनाव के बाद तुरंत ही जनगणना और डिलिमिटेशन होगा. महिलाओं की भागीदारी जल्द ही सदन में बढ़ेगी.

यह भी पढ़ें: महिला आरक्षण बिल लोकसभा से पास, पक्ष में 454 तो विपक्ष में पड़े 2 वोट

First Published : 21 September 2023, 06:25 AM IST