menu-icon
India Daily
share--v1

कौन हैं भारत के पहले स्पेस टूरिस्ट गोपी थोटाकुरा? राकेश शर्मा से कैसे अलग

गोपीचंद थोटाकुरा भारत के पहले अंतरिक्ष टूरिस्ट बनने जा रहे हैं. 1984 में अंतरिक्ष की यात्रा करने वाले पहले भारतीय राकेश शर्मा थे.

auth-image
Gyanendra Sharma
Gopichand Thotakura

गोपीचंद थोटाकुरा पर्यटक के रूप में अंतरिक्ष की यात्रा करने वाले पहले भारतीय बनने जा रहे हैं. उनका ख्याब पूरा होने वाला है. पेशे से पायलट गोपीचंद थोटाकुरा को ब्लू ओरिजिन के न्यू शेफर्ड-25 (एनएस-25) मिशन के लिए क्रू मेंबर के लिए चुना गया है. उनके साथ पांच और लोग अंतरिक्ष की सैर करेंगे.  इस मिशन के लिए उड़ान की तारीख का जल्द एलान किया जाएगा. 

इंडियन एयर फोर्स के पूर्व पायलट विंग कमांडर राकेश शर्मा साल 1984 में अंतरिक्ष की यात्रा करने वाले पहले भारतीय नागरिक थे.राकेश शर्मा ने सोवियत यूनियन के Salyut-7 स्पेस स्टेशन में 7 से ज्यादा दिन बिताए थे. राकेश शर्मा के बाद कल्पना चावला, सुनीता विलियम्स, राजा चारी और सिरिशा बंदला भारतीय मूल के अमेरिकी अंतरिक्ष यात्रा पर गए. लेकिन गोपीचंद एक अंतरिक्ष यात्री के तौर पर स्पेस जाएंगे.  ब्लू ओरिजिन्स ने बताया कि गोपी एक पायलट हैं जिन्होंने गाड़ी चलाने से पहले फ्लाइट उड़ानी सीखी. 

कौने हैं गोपीचंद थोटाकुरा?

गोपीचंद थोटाकुरा एक उद्यमी और पायलट हैं. वो एरोबेटिक और सीप्लेन, ग्लाइडर और गर्म हवा के गुब्बारे का पायलट है और उसने एक अंतरराष्ट्रीय मेडिकल जेट पायलट के रूप में काम किया है. हाल ही में वह माउंट किलिमंजारो के शिखर पर गए थे. शुरुआती दिनों से ही थोटाकुरा में फ्लाइंग को लेकर जबरदस्त उत्साह था. इसी  जुनून के चलते उन्होंने विमान चलाना सीखा. उन्होंने एम्ब्री-रिडल एरोनॉटिकल यूनिवर्सिटी से एयरोनॉटिकल साइंस में बैचलर ऑफ साइंस में ग्रजुएशन की है.  

कौन-कौन जाएगा साथ?

जेफ बेजोस की अंतरिक्ष कंपनी ब्लू ओरिजिन ने अपने एनएस -25 मिशन के लिए 6 लोगों के क्रू की घोषणा की है, जिसमें मेसन एंजेल, सिल्वेन चिरोन, केनेथ एल हेस, कैरोल स्कॉलर, गोपी थोटाकुरा और पूर्व वायु सेना कप्तान एड ड्वाइट शामिल हैं. कंपनी व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए न्यू ग्लेन नामक एक भारी रॉकेट भी विकसित कर रही है, जिसकी पहली उड़ान अगले वर्ष के लिए निर्धारित है.